गीता जयंती के अवसर पर सफाई के लिए कलाकार कर रहे जागरुक
December 7th, 2019 | Post by :- | 58 Views

कुरुक्षेत्र, ( सुरेश पाल सिंहमार )    ।      गीता जयंती महोत्सव के दौरान विभिन्न प्रदेशों से आए कलाकार एक ओर जहां अपने-अपने प्रदेश की संस्कृति की झलक दिखा रहे हैं, वहीं अपने नृत्यों तथा अन्य प्रस्तुतियों के माध्यम से महोत्सव में आने वाले पर्यटकों का मनोरंजन भी कर कर रहे हैं। ऐसे में शहर के रंगकर्मी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हुए लोगों को सामाजिक संदेश भी दे रहे हैं।

हरियाणा कला परिषद के सौजन्य से प्रतिदिन ब्रह्मसरोवर के विभिन्न स्थलों पर स्वच्छता का संदेश देते कलाकार लोगों को सफाई व्यवस्था के लिए जागरुक कर रहे हैं। निकिता शर्मा व साथी कलाकारों द्वारा पांच दिसम्बर से दस दिसम्बर तक पांच स्थलों पर किए जा रहे नुक्कड़ नाटकों में कलाकार दिखाते हैं कि कुरुक्षेत्र एक पर्यटन स्थल हैं, जहां लोग निरंतर आते-जाते हैं। लेकिन बाहर से आए हुए लोग खाने पीने की वस्तुओं के छिलके, लिफाफे आदि जगह-जगह गिरा देते हैं, जिससे कुरुक्षेत्र के न्यू उत्थान थियेटर ग्रुप के कलाकारों को बुरा लगता है और वे अपने गीतों के माध्यम से लोगों को समझाने का प्रयास करते हैं।

अंत में कलाकार बताते हैं कि कुरुक्षेत्र को साफ सुथरा रखना यहां के स्थानीय निवासियों की जिम्मेदारी है। यदि प्रत्येक व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी समझते हुए लोगों से सफाई की अपील करेगा तो शहर अपने आप ही साफ दिखेगा। नाटक के कलाकारों में साजन कालड़ा, पारुल कौशिक, सुग्रीव मैहरा, नितिन गुप्ता, गुरदीप, साहिल, निकिता, कुलदीप तथा संदेश आदि शामिल रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।