‘छात्रा परिवहन सुरक्षा योजना’ के अन्तर्गत राज्य के पांच जिलों में पायलट आधार पर ‘महिला स्पेशल बस’ चलाई जाएगी
December 6th, 2019 | Post by :- | 63 Views

चंडीगढ़, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )    ।    हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि ‘छात्रा परिवहन सुरक्षा योजना’ के अन्तर्गत राज्य के पांच जिलों नामत :अम्बाला, पंचकूला, यमुनानगर, करनाल और कुरुक्षेत्र में पायलट आधार पर ‘महिला स्पेशल बस’ चलाई जाएगी।

मुख्यमंत्री छात्रा परिवहन सुरक्षा योजना से सम्बन्धित किए गये कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में शिक्षा विभाग और परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह महिला स्पेशल बस छात्राओं की सुरक्षा को देखते हुए शुरू की जा रही है। उन्होंने बताया कि ऐसी हर बस में पुलिस की महिला कॉस्टेबल भी तैनात रहेंगी, ताकि असामाजिक तत्वों पर निगरानी रखी जा सके। उन्होंने कहा कि शुरूआत में छात्राओं को लाने व ले जाने के लिए उच्च शिक्षा के कुछ शिक्षण संस्थानों को शामिल किया जाएगा और बाद में इस योजना के अन्तर्गत अन्य शिक्षण संस्थानों को भी शामिल किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे बसों के रूटों को इस प्रकार से तैयार करें कि समय और बसों का सदुपयोग किया जा सके।
मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे हर जिले में रूट तैयार करते समय प्रत्येक जिला के एक वरिष्ठ अधिकारी को नोडल अधिकारी के रूप में मनोनीत करें ताकि वे परिवहन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठकर सही और बेहतर रूट तैयार कर सकें। उन्हेंने कहा कि जहां कहीं बड़ी बसों की जरूरत नहीं है, वहां पर छोटे वाहनों का उपयोग करके छात्राओं को सुविधा मुहैया करवाई जाए।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि इस योजना के विस्तार के लिए सभी सम्बन्धित अधिकारी आपस में तालमेल रखें और योजना को सफल करने के लिए विचार-विमर्श करें ताकि राज्य की छात्राओं को शिक्षा ग्रहण करने में किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री को बताया गया कि इस योजना के अन्तर्गत फिलहाल कॉलेज और विश्वविद्यालय की छात्राओं को शामिल किया जा रहा है, लेकिन बाद में अन्य उच्च शैक्षणिक संस्थानों की छात्राओं को भी शामिल किया जाएगा।

बैठक के दौरान परिवहन विभाग और शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने अपने-अपने विभागों के सम्बन्ध में इस योजना से सम्बन्धित कार्य प्रगति की जानकारी दी, जिस पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को विभिन्न दिशानिर्देश दिए।
बैठक में मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव श्री वी ऊमाशंकर, उप-प्रधान सचिव श्रीमती आशिमा बराड़, परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री एसएन राय, उच्च शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव श्री अंकुर गुप्ता, स्कूल शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव श्री महावीर सिंह और उच्च शिक्षा विभाग के निदेशक श्री ए श्रीनिवास और शिक्षा विभाग व परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।