राहुल भट्ट ने उत्तराखंड सभ्यता और संस्कृति के बिखरे रंग
December 2nd, 2019 | Post by :- | 96 Views

बहादुरगढ़/एनसीआर लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ (गौरव शर्मा)

उत्तराखंड की सभ्यता और संस्कृति, रीति रिवाजों पर आधारित संगीतमय नाटक ‘बारामासा’ का अयोजन हुआ। कार्यक्रम का आयोजन गुरुग्राम के किंगडम ऑफ ड्रीम्स में हुआ। जिसमें बतौर मुख्यअतिथि प्रख्यात कवि-गीतकार प्रसून जोशी ने शिरकत की। कार्यक्रम में पहुँचने पर संस्था महासचिव संजय जोशी व अन्य पदाधिकारियों द्वारा कवि-गीतकार प्रसून जोशी का फूल-माला पहनाकर व गुलदस्ता भेंट करके स्वागत किया गया।


कवि-गीतकार प्रसून जोशी ने अपने संबोधन में कहा कि उत्तराखंड के लोग मेहनतकश हैं और अपनी सभ्यता व संस्कृति को संजोए हुए हैं। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में पर्यटन को विशेष तौर पर महत्व देते हुए कार्य किए जा रहे हैं। लोगों को रोजगार के लिए अन्यत्र न जाना पड़े इसके लिए सरकार विशेष तौर पर काम कर रही है। प्रसून जोशी ने कहा कि उत्तराखंड से दूर रहकर भी लोग अपनी सभ्यता व संस्कृति को जीवित रखे हुए हैं।

राहुल भट्ट की एंट्री ने डाली उत्तराखंड सांस्कृतिक कार्यक्रम में जान…

वहीं राहुल भट्ट एंड टीम ने सामूहिक सांस्कृतिक पारंपरिक वेशभूषा में मोहक नृत्य कर सभ्यता व संस्कृति को प्रदर्शित किया। उन्होंने उत्तराखंड सभ्यता और संस्कृति के रंग बिखरे। समारोह में मौजूद हजारो की संख्या में लोगों ने राहुल भट्ट एंड टीम का जोरदार तालियां बजाकर स्वागत किया।

राहुल भट्ट का सपना…एक अच्छा अभिनेता, मॉडल बनना!

राहुल भट्ट ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि उनका सपना भारत देश की मिट्टी की खुशबू को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विदेशो तक पहुँचाना हैं। राहुल भट्ट ने कहा कि उनका सपना एक अच्छा अभिनेता, मॉडल बनना है। वह अपने लक्ष्य प्राप्ति के लिए जीतोड़ मेहनत कर रहे है। राहुल भट्ट ने बताया कि फिलहाल वह दिल्ली की एक प्राइवेट कंपनी में अपनी आजीविका कमाने के लिए नौकरी कर रहें हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।