सहबाज सिंह का बीएआरसी में चयन।
December 2nd, 2019 | Post by :- | 75 Views

कालका (चन्द्रकान्त शर्मा)

पिंजौर निवासी सहबाज सिंह प्रदेश के पहले और सबसे कम आयु के न्यूक्लियर मेडिसन स्टूडेंट बने हैं । प्रदेश में पहली बार किसी स्टूडेंट ने : बीएआरसी ( भाभा ऑटोमेटिक रिसर्च सेंटर ) मुंबई का एंट्रेंस टेस्ट क्लियर कर एमएससी ( न्यूक्लियर मेडिसिन ) में सबसे कम उम्र 21 वर्ष में एडमिशन लेकर पिंजौर शहर का नाम रोशन किया है। सहबाज सिंह शिक्षा बोर्ड के लेक्चर्र करनैल सिंह के पुत्र हैं। सहबाज बीएससी रेडियोग्राफी पीजीआई चंडीगढ़ से कर चुके हैं। अभी तक न्यूक्लियर मेडिसिन में 30 से 35 वर्ष के स्टूडेंट ही एडमिशन ले पाते थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।