रायपुरानी में मक्खियों की समस्या के समाधान के लिए गंभीर नही सरकार : विजय बंसल।
November 30th, 2019 | Post by :- | 52 Views

चन्द्रकान्त शर्मा

रायपुरानी व आसपास के इलाके के लोग वर्षो से मक्खियों व बदबू की समस्या से परेशान है जिसके कारण कोई वैवाहिक कार्यक्रम तो दूर,कोई व्यक्ति अपनी लड़की की शादी भी इस इलाके में करने से कतराने लगा है तो वही किसानों की खेती,आमजनों का स्वास्थ्य,महिलाओ की गृहस्थी व स्थानीयजनों का जीवन खराब हो चुका है।यह कहना है शिवालिक विकास मंच के अध्यक्ष,पूर्व चेयरमैन हरियाणा सरकार व माननीय हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर पर मक्खियों व बदबू की समस्या से निजात दिलवाने के लिए आदेश करवाने वाले एडवोकेट विजय बंसल का।विजय बंसल का कहना है कि इस सारी समस्या के लिए प्रशासन व सरकार पूर्णतः जिम्मेवार है जिसका खामियाजा जनता भुगत रही है।बंसल के अनुसार यदि जिला प्रशासन एवं प्रदूषण विभाग,हरियाणा प्रदूषण बोर्ड द्वारा मक्खियों की समस्या के समाधान के लिए उनकी याचिका पर माननीय न्यायालय द्वारा हुए आदेशो पर जारी अधिसूचना को सख्ती से लागु करे तो सारी समस्या का समाधान हो जाएगा।

– 2013 में ही मक्खियों की समस्या के समाधान के लिए तैयार हो गए थे दिशा निर्देश…..

गौरतलब है कि माननीय हाईकोर्ट ने इस मामले के संदर्भ में विजय बंसल द्वारा दायर जनहित याचिका नम्बर 16436/2011 पर 5 सितम्बर 2011 को हरियाणा सरकार को एक माह के भीतर कार्यवाही करने का आदेश दिया था जिसमे हरियाणा प्रदूषण बोर्ड को केंद्रीय प्रदुषण बोर्ड से दिशानर्देशन लेकर एक पॉलिसी बनाने के लिए कहा था परन्तु जब सरकार ने 2 साल तक कुछ नही किया फिर 2013 में पुनः कंटेम्प्ट ऑफ कोर्ट की याचिका डालने के बाद अधिसूचना तैयार की गई लेकिन फिर भी रायपुरानी में सख्ती से लागू नही किया जिस कारण समस्या ज्यो की त्यों है।

– फिर न्यायलय की शरण लेंगे विजय बंसल…

विजय बंसल ने कहा कि अब पुनः माननीय हाईकोर्ट की शरण लेकर इस समस्या के समाधान के लिए कहा जाएगा क्योंकि सरकार व प्रशासन ने न केवल कोर्ट के आदेशों की अवमानना की है बल्कि जनता के साथ भी विश्वासघात किया है।माननीय हाईकोर्ट के आदेशों पर बनी गाइडलाइनस को सख्ती से लागू न करके सरकार व प्रशासन ने जनता के प्रति भेदभावपूर्ण रवैया दिखा दिया है।

– समाधान होने के बावजूद भी समस्या का निदान नही…

विजय बंसल के अनुसार यह बहुत ही आश्चर्य की बात है कि जब सरकार के पास इस समस्या के समाधान के लिए विकल्प है फिर भी समस्या का निदान नही हो पा रहा है जोकि कमजोर नेतृत्व, भेदभावपूर्ण सरकार का आईना है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।