अपनों ने छोड़ा गैरों ने संभालासोशल मीडिया का हो रहा है सदुपयोग कैथल में शुरू हुई फ्री सिटीजन टिफिन सर्विस सेवा
November 25th, 2019 | Post by :- | 87 Views
कैथल(लोकहित विशाल चौधरी) |कहते हैं कि बुढ़ापे में जवान बच्चे लकड़ी का सहारा होते हैं परंतु ज्यो -ज्यो  समय  बदलता जा रहा है हम पश्चिमी सभ्यता की ओर बढ़ रहे हैं त्यों -त्यों वृद्धाश्रम भी बढ़ रहे हैं बच्चे अपने बुजुर्गों के साथ रहना पसंद नहीं करते जो बुजुर्ग वृद्ध आश्रम में चले जाते हैं वह तो आंसू का घूंट पी जाते हैं और अपना जीवन काट लेते हैं परंतु जो बुजुर्ग ना तो वृद्धाश्रम में जा पाते हैं ना ही कोई उन्हें बच्चों का सहारा मिलता उनके लिए सबसे जरूरी चीज है भोजन के लिए दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता है
इसी पीड़ा को कैथल किए समाजसेवी संस्था श्री नर – नारायण सेवा समिति कैथल  ने समझा और इसके लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया गया
 
 समाज सेवी संस्था ने सीनियर सिटीजन बुजुर्गों के लिए जो अपने बच्चों से अलग रहते हैं और अपना भोजन नहीं बना पाते या भोजन के लिए दूसरों पर आश्रित रहना पड़ता है मुफ्त में टिफिन सर्विस सेवा शुरू की है पहले दिन हो एक भरा हुआ खाने का टिफिन बुजुर्गों को दिया ते हैं और दूसरे दिन खाली टिफिन ले लेते हैं और भरा हुआ  टिफिन उन्हें दे दिया जाता है इससे  निराश्रित बुजुर्गों को घर बैठे भरपेट भोजन मिल जाता है और उन्हें दूसरों पर आश्रित नहीं रहना पड़ता
 
हमने इस संस्था में काम करने वाले पदाधिकारियों से बात की तो उन्होंने बताया कि हमें सोशल मीडिया पर दूसरे शहरों में इस तरह की सेवा की बात सुनी थी हमने उन संस्थाओं से फोन करके इस सेवा को कैसे शुरू किया जाए और इसकी कार्यप्रणाली क्या रहेगी इसके बारे में जानकारी ली और अपने शहर कैथल में इसको शुरू किया इससे बुजुर्गों का आशीर्वाद हमें मिल रहा है हम बुजुर्गों को उनके हिसाब से पोस्टिक आहार उपलब्ध करवाने का प्रयास कर रहे हैं खाने की गुणवत्ता बनी रहे इसके लिए हमारी संस्था का बारी बारी से 1 मेंबर भोजन वितरण के समय उपलब्ध रहता है और खाना वहीं पर खाता है जिससे रसोई बनाने वाले कर्मचारियों को भी इस बात का ध्यान रखना पड़ता है की स्वच्छता में कोई कमी न रह जाए और भोजन पूरी तरह से स्वच्छ हो
उन्होंने बताया कि कुछ बुजुर्ग भोजन बनाने में तो असमर्थ हैं परंतु वह मुफ्त में भोजन नहीं लेना चाहते उनका स्वाभिमान बना रहे इसके लिए वह अपनी इच्छा से कुछ भी राशि देना चाहे तो संस्था के खाते में दे सकते हैं उन्होंने आगे बताया कि हमारा प्रयास रहेगा कि अमित ज्यादा से ज्यादा बुजुर्गों तक यह टिफिन सेवा पहुंचा सके और इसके लिए हमने सोशल मीडिया का सहारा लिया है लोग  सोशल मीडिया के माध्यम सेवाट्स एप्प  नम्बर 90535 45100  हमें ऐसे बुजुर्गों की लोकेशन नाम और पता बताते हैं हमारी टीम जाकर सर्वे करती है और हमें लगता है कि वाक्य ही बुजुर्ग जरूरतमंद है तो हम उसको यह टिफिन अगले दिन से उपलब्ध करवा देते हैं यह सेवा जनता के सहयोग से चल रही है और इसके लिए सोशल मीडिआ  का  सार्थक प्रयोग किया  जा रहा है 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।