बेरहमी से पीटा इलाज के दौरान दो दिन बाद हुई मौत ,5 नामजद ।
November 24th, 2019 | Post by :- | 148 Views

बेरहमी से पीटा इलाज के दौरान हुई मौत ,5  के खिलाफ मामला दर्ज ।अवैध सबंध बने कत्ल की वजह ।
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
मृतक मंगा सिंह पुत्र जोगिंदर सिंह की पत्नी दी पुलिस को दी गई शिकायत में बताया कि उसके दो बच्चे हैं बड़ा बेटा सूरज उम्र 6 वर्ष और छोटा बेटा 4 वर्ष का है ।उसका पति मंगा सिंह जो कि मेहनत मजदूरी करता था 22 नंवबर को वक्त करीब सुबह के 9.30बजे मेरी सास सरबजीत कौर घर से बाहर शौच के लिए गई थी रास्ते मे चौक में खड़े सुखदेव सिंह उर्फ सुक्खा पुत्र हंसा सिंह ,मुख़्तार सिंह उर्फ मुक्खा पुत्र हंसा सिंह ,सुखविंदर सिंह उर्फ सोनू पुत्र सुखदेव सिंह ,पोलिश उर्फ लड्डू पुत्र मुख़्तार सिंह और विजय पुत्र सुखदेव सिंह सभी निवासी मखनविंडी थाना जंडियाला गुरु जिला अमृतसर मेरी सास को बालों से पकड़ कर उसके साथ मारपीट करने लगे ।इस मामले की जानकारी मेरे चाचा ससुर के बेटे नर घर मे आकर सब कुछ बताया ।मेरा पति मंगा सिंह यह सुनकर अपनी माँ को बचाने के लिए चौक की ओर भागा मैं भी उसके पीछे भागी ।जब मेरा पति सास को छुड़ाने लगा तो सुखविंदर सिंह उर्फ सोनू पुत्र सुखदेव सिंह ने अपने हाथ मे पकड़े दातर से उस पर वार किया जो उसके सिर के बाएं तरफ लगा और वह ज़ख्मी होकर गिर पड़ा बाकी व्यक्ति भी भी उस पर हमला करते रहे ।जब मैंने शोर मचाया तो सभी दौड़ गए ।उसे इलाज के लिए पहले सरकारी हस्पताल मानांवाला में दाखिल कराया गया लेकिन चोट गहरी होने के चलते डॉक्टरों ने उसे गुरु नानक देव हस्पताल अमृतसर रैफर कर दिया जहां इलाज के दौरान उसकी आज मौत हो गई ।यह खबर सुनते उनके परिवार पर दुखो का पहाड़ टूट पड़ा क्योंकि परिवार का गुजारा के लिए वह अकेला ही कमाने वाला था ।पुलिस उक्त 5 आरोपियों के खिलाफ पुलिस थाना जंडियाला गुरु में धारा 302 ,148 ,149 आई पी।सी के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है ।
रंजिश की थी यह वजह
बता दे कि इस मामले में मृतक के छोटे भाई कश्मीर सिंह के सोनू की पत्नी के साथ अवैध सबंध थे ।जो उसको कहीं ले गया था ।
एस एच ओ जंडियाला इंस्पेक्टर अमोलक।सिंह का कहना है कि आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।