प्रदेश में अब स्पेशल फ्लाईंग टीम करेंगी प्रशिक्षण के दौरान चैकिंग:संदीप
November 24th, 2019 | Post by :- | 75 Views
कुरुक्षेत्र, ( सुरेश पाल सिंहमार )    ।      हरियाणा के खेल एवं युवा कार्यक्रम मंत्री संदीप सिंह ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में अब सभी खेल प्रागंणों में खिलाडिय़ों को दिए जा रहे प्रशिक्षण को लेकर चैकिंग की जाएगी। इसके लिए प्रशिक्षण के कार्य को चैक करने के लिए एक गोपनीय स्पेशल फ्लाईंग टीम का गठन किया जाएगा। यह फ्लाईंग टीम प्रशिक्षण के शैडयूल के अनुसार औचक निरीक्षण करेगी, इस निरीक्षण के दौरान कोई भी प्रशिक्षक गैरहाजिर पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। अहम पहलु यह है कि प्रदेश के दो प्रशिक्षकों को चैकिंग के दौरान डयूटी में लापरवाही बरतने पर कार्रवाई करने के आदेश जारी कर दिए गए है।
खेलमंत्री संदीप सिंह रविवार को कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड की तरफ से पुरुषोतमपुरा बाग ब्रहमसरोवर पर आयोजित आईजीएम-2019 मैराथन के समापन के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश खेलों के क्षेत्र में देश में पहले पायदान पर है और इस उपलब्धि को हमेशा बरकरार रखना है। इसलिए प्रदेश में ग्रासरुट के खिलाडिय़ों को और राष्टï्रीय और अंतर्राष्टï्रीय स्तर के खिलाडिय़ों की प्रतिभा में ओर निखार लाने के लिए राज्य सरकार पूरी गम्भीरता के साथ काम कर रही है। इसलिए प्रदेश में खिलाडिय़ों को निर्धारित शैडयूल के अनुसार प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस मामले में जरा सी भी लापरवाही सहन नहीं की जाएगी। सभी प्रशिक्षक समय पर खेल मैदान और नर्सरियों मेें पहुंचकर खिलाडिय़ों को उच्चस्तरीय प्रशिक्षण देने का काम करेंगे। इतना ही नहीं इस प्रशिक्षण कार्य को जांचने के लिए एक गोपनीय स्पेशल फ्लाईंग टीम का गठन किया जा रहा है, इस टीम के सदस्य सीधा रिपोर्ट करेंगे। अगर किसी प्रशिक्षक को बिना छुट्टïी के गैर हाजिर पाया गया या फिर प्रशिक्षण देने में कोई कोताही बरती तो तुरंत एक्शन लिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि अब प्रशिक्षकों को पुरानी कार्यप्रणाली को छोडक़र केवल और केवल प्रशिक्षण पर फोकस रखना होगा, जो प्रशिक्षक सुबह चाय पीकर बिना प्रशिक्षण दिया घर लौट जाएंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई करने भी देरी नहीं लगाई जाएगी। इस प्रदेश में खिलाडिय़ों को अहसास होना चाहिए की उन्हें खेल प्रागंण और नर्सरियों में उच्चस्तरीय प्रशिक्षण मिल रहा है। इतना ही नहीं प्रदेश में काम से जी चुराने वाले प्रशिक्षक राडार पर रहेंगे और सराहनीय कार्य करने वाले प्रशिक्षकों का उत्साहवर्धन भी किया जाएगा, क्योंकि प्रशिक्षक और गुरुजन हमेशा पूजनीय होते है और इस मान-सम्मान को बरकरार रखना होगा। उन्होंने कहा कि हाकी के लिए ही नहीं हर खेल को उभारने का काम किया जाएगा। इसके लिए खिलाडिय़ों को मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जाएंगी। खेलमंत्री ने पत्रकारों के प्रश्न का जवाब देते हुए कहा कि पिछले एक साल से हाकी का कोई मैच नहीं खेले है, लेकिन वर्ष 2020 में हाकी का मैच खेलेंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।