बद्दी में नुक्कड़ नाटक के माध्यम से बताए नशे के दुष्प्रभाव
November 23rd, 2019 | Post by :- | 131 Views
 नशे के विरूद्ध लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से प्रदेश सरकार द्वारा 15 दिसंबर तक विशेष अभियान कार्यान्वित किया जा रहा है। अभियान के तहत नुक्कड़ नाटकों, गीत-संगीत, संगोष्ठियों, खेलकूद, जन संवाद और अन्य कार्यक्रमों के माध्यम से आम लोगों विशेषकर युवाओं को नशे के खिलाफ जागरूक किया जा रहा है। इसी कड़ी में प्रदेश के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सौजन्य से चिकित्सा खण्ड चण्डी के अन्तर्गत गांव बुरावाला तथा नालागढ़ के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बद्दी में लोगों को नशा निवारण पर गीत-संगीत व नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से जागरूक किया गया।

– पूजा कलामंच बाड़ीधार के कलाकारों ने कार्यक्रम किया प्रस्तुत …
कलाकारों ने अवगत करवाया कि किस प्रकार नशा युवाओं को मानसिक व शारीरिक रूप से खोखला कर रहा है। यह चिंतनीय है कि हिमाचल में नशे का जाल बढ़ता प्रतीत हो रहा है और विशेषकर युवा पीढ़ी इसकी चपेट में आ रही है। लोगों को नशे के बढ़ते प्रभाव को लेकर तथा इससे बचाव बारे में जागरूक किया गया। कलाकारों राजू भाटिया, रमेश चंद, सुरेश कुमार, संजय भट्टी, चेतन गर्ग, कमलेश चंद, स्वर्णजीत, ललित कौशल, सोनू, ज्योति, निशा बाला ने नुक्कड़ ‘छुणकूओ रा ब्याह’ के माध्यम से नशे के शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों की जानकारी दी। कलाकारों ने बताया कि किस प्रकार नशा व्यक्ति को शारीरिक व मानसिक रूप से अक्षम कर देता है। कलाकारों ने बताया कि नशे से पीडि़त व्यक्ति की प्रजनन शक्ति पर विपरीत असर पड़ता है।

कलाकारों ने गीत ‘गांव-गांव और शहर-शहर में ये अभियान चलाया है-छोड़ नशे की बुरी आदतें ये अभियान चलाया है’ के माध्यम से लोगों को जागरूक किया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के स्वास्थ्य शिक्षक अवतार सिंह ने इस अवसर पर कहा नशे जैसे भयानक रोग सभी को दूर करने के लिए हमें नशे को भगाने का संकल्प लेना होगा। हमें अपने आस-पड़ोस में भी लोगों को नशे से दूर रखने में सहायक बनना होगा। उन्होंने कहा कि युवाओं को यह समझना होगा कि किसी भी प्रकार का नशा शारीरिक एवं मानसिक हानि के साथ-साथ सामाजिक व आर्थिक नुक्सान का कारण है।

उन्होंने कहा कि अपने आसपास नशे से पीडि़त व्यक्ति को समीप के नशा मुक्ति केंद्र में लाएं ताकि वह व्यक्ति पुनः अपना सुखद जीवन व्यतीत कर सके। इसके उपरांत कलाकरों ने बरोटीवाला स्थित नशा मुक्ति केंद्र ‘नई दिशा’ में लोगों को नशे के दुष्प्रभावों की जानकारी गीत-संगीत व नुक्कड़ नाटकांे के माध्यम से प्रदान की। इस अवसर पर आशा कार्यकर्ता कमला देवी, रजनी, रजिया, निशा, ममता तथा बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। लोगों ने कहा कि सूचना एवं जनसंपर्क विभाग को ऐसे कार्यक्रम नियमित रूप से आयोजित करने चाहिए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।