ट्रांसपोर्टर पर गोली चलाने वाले आरोपी 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार
November 15th, 2019 | Post by :- | 111 Views

रामपुरा थाना क्षेत्र के गांव हरिनगर निवासी एक ट्रांसपोर्टर पर गोली चलाते हुए जानलेवा हमला करने वाले तीनों आरोपियों को 24 घंटे के भीतर रामपुरा थाना पुलिस ने सीआइए रेवाडी की मदद से गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपियों की पहचान हरिनगर निवासी अनिल उर्फ कमांडो व हरविन्द्र उर्फ सोनू तथा कुतुबपुर निवासी महेश के रूप में हुई है। इस मामले की जानकारी देते हुए एसआई बिरेन्द्र तीनों आरोपी अपराधिक प्रवृति के है। हाल ही कुछ दिन पूर्व सीआइए रेवाडी टीम ने आरोपी अनिल उर्फ कमांडों को उसके अन्य साथियों को स्मैक व अवैध हथियार सहित गिरफ्तार किया था। उसके बाद से ही आरोपी अनिल उर्फ कमांडों हरिनगर निवासी कृष्ण कुमार ट्रांसपोर्टर से रंजिश रख रहा था। 13 नवंबर को आरोपी अनिल जेल से बाहर आया था। 13 नवंबर की रात करीब 9 बजे ही आरोपी अनिल ने फोन कर ट्रांसपोर्टर कृष्ण कुमार को फोन किया ओर बात करने के लिए अपने प्लाॅट में बुलाया था। कृष्ण कुमार अपनी पत्नी के साथ जैसे ही आरोपी के प्लाॅट में पहुंचा तो वहां पर पहले से ही हरिनगर निवासी अनिल उर्फ कमांडों, हरविन्द्र उर्फ सोनू व कुतुबपुर निवासी महेश मौजूद थे। अनिल ट्रांसपोर्टर कृष्ण को देखते ही तैश में आ गया और उसने पिस्टल निकाल कर आरोपी हरविन्द्र दी, और कृष्ण को पुलिस का मुखबिर बताते हुए उसे गोली मारने को कहा। हरविन्द्र उर्फ सोनू ने हत्या करने की नीयत से कृष्ण पर गोली चला दी। जो गोली कृष्ण के कान के पास लगी ओर वह उसी समय जमीन पर गिर पडा।

इसी दौरान आरोपी महेश ने हरविन्द्र से कहा कि इस पर और गोली चला अभी यह जिंदा है। इसी दौरान कृष्ण की पत्नी के शोर मचाने पर उसके परिवार के लोगो को मौके पर आता देख सभी आरोपी धमकी देते हुए फरार हो गए। घायल कृष्ण कुमार को उपचार के लिए ट्रामा सेंटर में पहुंचाया गया। पुलिस ने कृष्ण कुमार की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ हत्या का प्रयास व आम्र्स एक्ट सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर 24 घंटे के भीतर आरोपियों को गिरफ्तार बडी सफलता हासिल की है।

गिरफ्तार किए गए आरोपियों को शुक्रवार अदालत में पेश कर दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान आरोपियों से गहनता से पूछताछ कर वारदात में प्रयुक्त किए गए हथियार बरामद करने का प्रयास किया जायेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।