गौरक्षा समिति के सदस्यों ने ट्रक से 24 गौवंश को कराया मुक्त |
November 14th, 2019 | Post by :- | 120 Views

गौतस्करों ने भागने के चक्कर में समिति के सदस्यों की गाडी को मारी टक्कर

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :- (होडल) गौरक्षा सेवा समिति के सदस्यों ने गुरूवार सुबह अपनी जान पर खेलकर एक 12 टायर ट्रक में से 24 गौवंश को मुक्त कराया है जिनमें से दो गौवंश मृत अवस्था में मिले। गौतस्करों ने यहां गौरक्षा समिति के सदस्यों की गाडी में टक्कर मारकर भागने का प्रयास किया, लेकिन समिति के सदस्यों ने अपनी जान की परवाह करे बगैर गौतस्करों का कई किलोमीटर तक पीछा कर गौवंश को उनके चुंगल से मुक्त करा लिया। समिति के सदस्यों ने एक गौतस्कर को मौके पर ही पकड जबकि अन्य तस्कर भागने में सफल हो गए। समिति के सदस्यों ने पकड़े गए तस्करों को पुलिस के हवाले कर दिया है।

पुलिस ने समिति के सदस्यों की शिकायत पर मामला दर्ज कर गौवंश को पास की गौशाला में भेज दिया है। पुलिस ने गौतस्करों को हिरासत में लेकर ट्रक को जप्त कर लिया है। पुलिस मौके से फरार हुए अन्य गौतस्करों की तलाश में जुट गई है।

गौरक्षा समिति के प्रधान भगत सिंह रावत ने बताया कि उन्हें मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि कुछ गौतस्कर एक 12 टायर ट्रक में भारी मात्रा में गौवंश लेकर मेवात की ओर जा रहे है। सूचना मिलते ही रावत ने यूपी व हरियाणा पुलिस को इसकी सूचना दे दी, लेकिन वह गौतस्कर यूपी से हरियाणा की सीमा में प्रवेश कर गए। समिति के प्रधान रावत व अन्य सदस्य विष्णु, ललित, हरेंद्र, सुखदेव, महेश, देवीलाल, पुरषोत्तम करमन बॉर्डर के निकट खड़े होकर ट्रक के आने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही उन्होंने ट्रक को रोकने का प्रयास किया तो ट्रक में सवार गौतस्करों ने गौरक्षा समिति के सदस्यों की गाडी में टक्कर मारकर भागने का प्रयास किया, लेकिन समिति के सदस्यों ने अपना बचाव करते हुए अपनी गाडी को ट्रक के पीछे लगा दिया।

गौतस्करों ने गौवंश से भरे ट्रक को शहर के अंदर घुसा दिया। समिति के सदस्यों ने ट्रक का लगभग पांच किलोमीटर पीछा करने के बाद उसे नेशनल हाइवे बावरी मोड के निकट पकड लिया। समिति के सदस्यों ने एक गौतस्करों को भी मौके पर दबोच लिया जबकि अन्य गौतस्कर भागने में सफल हो गए। दल के सदस्यों ने जब ट्रक की तलाशी ली तो उसमें से 24 गौवंश बरामद किया जिनमें से दो गौवंश मृत अवस्था में मिला।

दल के सदस्यों ने पुलिस को मामले की सूचना दी और पकड़े गए गौतस्कर व गौवंश से भरी गाडी को पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने गौवंश को गांव मर्रोली स्थित गौशाला में छोड दिया है और तस्कर व गाडी को जप्त कर लिया है। समिति के प्रधान रावत ने कहा कि रात में पुलिस वाहन चैकिंग के नाम पर अबैध वसूली कर रही है तभी तो गौतस्करों के हौसले बुलंद हैं। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस सख्ती करे तो एक भी गौवंश की गाडी क्षेत्र से निकल नहीं सकती। उन्होंने कहा कि गौतस्करों को पुलिस को पूरी सह मिल रही है तभी तो यह वारदातें दिन-प्रतिदिन बढती जा रही है। पुलिस कीे ढुलमुल कार्यशैली के चलते समिति कि सदस्यों व शहर के लोगों में पुलिस के प्रति रोष व्याप्त है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।