पुलिस डीएवी ऑडिटोरियम अम्बाला शहर में बाल दिवस पर आयोजित समारोह में पंडित जवाहर लाल नेहरु के चित्र पर पुष्पांजलि भेंट
November 14th, 2019 | Post by :- | 74 Views

अम्बाला (अशोक शर्मा)

उपायुक्त एवं जिला बाल कल्याण परिषद् के अध्यक्ष अशोक कुमार शर्मा ने बाल दिवस के मौके पर बच्चों को शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। वे आज पुलिस डीएवी ऑडिटोरियम अम्बाला शहर में बाल दिवस पर आयोजित समारोह में बतौर मुख्यअतिथि बच्चों एवं उनके अभिभावकों को सम्बोधित कर रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने देश के प्रथम प्रधानमंत्री स्वर्गीय पंडित जवाहर लाल नेहरु के चित्र पर पुष्पांजलि भेंट करके जिला स्तरीय बाल दिवस समारोह का विधिवत शुभारम्भ किया। उपायुक्त ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने वाले बच्चों की प्रस्तुति द्वारा स्वच्छ पर्यावरण तथा अन्य सामाजिक संदेश दिए जाने की सराहना करते हुए कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रम मनोरजंन के साथ-साथ गुड मैसेज भी देते हैं। उन्होंने कहा कि पोलिथीन का प्रयोग न करने तथा पर्यावरण को स्वच्छ बनाने में बच्चें ध्वज वाहक बनकर समाज को एक प्रेरणा देने का काम करें। उन्होनें कहा कि सभी लोग यह प्रण करें कि वे न स्वयं गदंगी फैलाएगें और दूसरों को भी इस बारे में जागरूक करेगें। उन्होनें कहा कि पोलिथीन का इस्तेमाल न हो इसके लिए जिला अम्बाला में आने वाले एक मास के अन्दर पांच लाख थैले बांटे जाऐगें और लोगों को जागरूक किया जाएगा कि वे पोलिथीन का प्रयोग न करें। उन्होनें कहा कि जीवन के लिए विशेषतौर पर हवा-पानी और खाने की जरूरत होती हैं और इन तीनों चीजों का स्वच्छ होना बेहद आवश्यक हैं। उन्होनें कहा कि पर्यावरण प्रदूषित होने के कारण दिवाली के बाद जिला अम्बाला में भी एक दिन के लिए स्कूलों में छुट्टी करनी पड़ी। उन्होनें कहा कि किसानों की मदद से पराली जलाने के केस पहले की तुलना में आधे हुए हैं और किसानों को इस बारे में जागरूक करने के लिए विशेष ध्यान दिया जा रहा हैं। उन्होनें बच्चों से कहा कि वे अपने से बड़ो का तथा अपने गुरूजनों का सम्मान करें। उन्होनें प्रतियोगिता में विजयी रहे बच्चों को अन्तर जिला स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता के लिए शुभकामनाएं भी दी।
उन्होने कहा कि बच्चे देश और समाज का भविष्य हैं और उन्हें मेहनत, ईमानदारी और लग्न के साथ सफलता के मार्ग पर अग्रसर होने के लिए महान विभूतियों के जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जीवन में सफलता हासिल करने के लिए माता-पिता और अध्यापकों द्वारा दिखाए गए मार्ग को अपनाना जरूरी है। उन्होंने यह भी कहा कि तनाव मुक्त रहकर जीवन में बेहतर और प्रतियोगी शिक्षा हासिल करने के साथ-साथ अच्छे संस्कार भी हासिल करें क्योंकि एक सफल नागरिक बनने के साथ-साथ आदर्श नागरिक बनना भी जरूरी है। उन्होनें यह भी कहा कि बच्चे शिक्षा के साथ-साथ खेल एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम जैसी गतिविधियों में भी भाग लें।
उपायुक्त की धर्मपत्नि एवं जिला बाल कल्याण परिषद् की चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने इस मौके पर बाल दिवस के अवसर पर राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य का संदेश पढक़र सुनाया और बच्चों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने बाल दिवस के उ पलक्ष्य में आयोजित हुई स्कूली बच्चों की विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले बच्चों तथा विजेता बच्चों को जहां बधाई दी वहीं उन्होंने प्रतियोगिता में भाग लेने वाले एवं पीछे रहने वाले बच्चों को हतोत्साहित न होने की बात कहीं। उन्होनें कहा कि किसी भी प्रतियोगिता में भाग लेना ही बड़ी बात हैं। जब प्रतियोगिता में भाग लेगें तभी अग्रणी स्थान पर रहेगें।
इस अवसर पर उपायुक्त एवं जिला बाल कल्याण परिषद् के अध्यक्ष अशोक कुमार शर्मा तथा जिला बाल कल्याण परिषद् की चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने बाल दिवस के उपलक्ष्य में 30 अक्तूबर से 8 नवम्बर तक आयोजित हुई स्कूली बच्चों की विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता बच्चों को पुरस्कृत भी किया। इस मौके पर बच्चों ने सरस्वती वंदना सहित अन्य मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।