बंडाला में अवैध रूप से जल रही पराली की चैकिंग करने गई टीम को घेरा ,पुलिस की दखलंदाजी के बाद छुड़ाया ।
November 13th, 2019 | Post by :- | 229 Views

बंडाला गांव में अवैध से रूप जला रहे धान की पराली को माल विभाग की टीम को किसानों ने घेरा,पुलिस की।दखलंदाजी के बाद वहां से निकले ।
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
एक तरफ जहाँ माननीय सर्वोत्तम न्यायालय द्वारा धान की पराली को जलाने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए है वहीं दूसरी तरफ आज गांव बुंडाला में एक ऐसा मामला सामने आया है जहाँ पर नायब तहसीलदार सब तहसील जंडियाला गुरु अर्चना शर्मा औऱ उनकी टीम को सूचना मिली कि बंडाला में धान की पराली अवैध रूप से जलाई जा रही है ।वह इसकी चैकिंग के लिए शाम करीब 4 बजे मौका देखने गए ।जब उन्होंने ने यह जानकारी लेनी चाही कि कौन इसको जला रहा है तो वहाँ पर खेत के मालिक और किसान यूनियन के नुमाइंदों ने उन्हें घेर लिया जहाँ उन्हें करीब आधे घण्टे से ज्यादा समय तक घेरा ,फिर डी एस पी जंडियाला गुरु को सूचित करने पर उन्होंने ने औऱ पुलिस फोर्स को भेजकर छुड़वाया लेकिन उनकी सरकारी गाड़ी मजबूरन उन्हें वहीं छोड़नी पड़ी ।नायब तहसीलदार अर्चना शर्मा ने बताया कि उनके साथ बंडाला का पटवारी मनिंदरपाल सिंह व अन्य स्टाफ था जब यह घटना घटी। उन्होंने ने कहा कि वह इस मामले की लिखित शिकायत डी सी अमृतसर ,एस डी एम 1 औऱ अन्य अधिकारियों को देंगे ।उन्होंने कहा कि गांव बंडाला के गुरभेज सिंह पुत्र रणजीत सिंह ,गुरसिमरन सिंह पुत्र इंद्रजीत सिंह ,यादविंदर मुख्तार सिंह पुत्र अमर सिंह ,औऱ गुरशरण सिंह पुत्र रणजीत सिंह हैं जिन्होंने ने उनकी कार्रवाई में विघ्न डाला ।
फ़ोटो कैप्शन नायब तहसीलदार अर्चना शर्मा और उनकी टीम
किसान और किसान यूनियन की टीम धरना लगाकर बैठी

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।