एचटेट की परीक्षाओं को सुचारू रूप से सम्पन्न करवाने व अन्य पहलूओं के तहत जिला प्रशासन पूरी तरह तैयार:-डीसी
November 13th, 2019 | Post by :- | 89 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) चण्डीगढ़ से आयोजित वीसी में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सभी उपायुक्तों को स्पष्टï निर्देश दिए कि वे एचटेट की परीक्षा को सुचारू रूप से सम्पन्न करवाए, इस विषय को लेकर किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा फाना प्रबन्धन, खाद की व्यवस्था, नशा मुक्ति केन्द्रों की समीक्षा, सडक़ों को दुर्घटना मुक्त बनाना, बीपीएल कार्ड, स्वच्छता सहित सभी बिन्दूओं पर पूरी तरह से नियमानुसार कारवाई अमल में लानी चाहिए। रबी के सीजन को देखते हुए खाद की पूरी व्यवस्था हो। किसानों को कोई परेशानी न हो, इसके लिए पूरे इंतजाम अति आवश्यक हैं। वीसी में डीसी ने मुख्यमंत्री को बताया कि सम्बधिंत बिन्दूओं को लेकर पूरी सजगता के साथ कार्य किया जा रहा हैं।
वीसी में मिले निर्देशों की अनुपालना में डीसी अशोक कुमार शर्मा ने सभी अधिकारियों की बैठक लेते हुए स्पष्टï निर्देश दिए कि एचटेट की परीक्षा सुचारू रूप से सम्पन्न होनी चाहिए। डयूटी पर तैनात सम्बधिंत अधिकारी परीक्षा केन्द्रों पर जाकर तैयारियों का जायजा लें। परीक्षा केन्द्रों के अधीक्षकों से सम्पर्क बनाकर रखें, इतना ही नहीं निर्धारित समय सीमा के अन्दर कोई फोटोस्टेट की दुकान खुली नहीं होनी चाहिए, यह व्यवस्था करना भी लाजमी हैं। पुलिस अधिकारियों और खजाना अधिकारी को निर्देश देते हुए उन्होनें कहा कि वे अपनी डयूटी का सुचारू रूप से निर्वाह करें। ट्रैजरी से प्रश्न पत्र पुलिस सुरक्षा में केन्द्र तक पहुंचाएं जाए। बिजली, पानी की व्यवस्था पूरी तरह से सुचारू होनी चाहिए, इसके अलावा सभी केन्द्रों में बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था जैसे की जनरेटर की व्यवस्था होना भी जरूरी हैं। सभी कर्मचारियों के पास पहचान पत्र होना भी लाजमी हैं। 
फाना प्रबन्धन विषय को लेकर उन्होनें कहा कि किसानों को कस्टम हाइरिंग सेंटर व स्ट्रॉ-बेलर यूनिट संचालकों को परिचालन लागत के रूप में 1000 रूपए प्रति एकड़ का खर्च सरकार द्वारा वहन किया जा रहा हैं। इसलिए सम्बधिंत अधिकारी भी इस स्कीम के बारे किसानों को जागरूक करें। उन्होंने यह भी कहा कि फाना प्रबन्धन अति अनिवार्य हैं, ऐसा करने से पर्यावरण को प्रदूषित करने से बचाया जा सकेगा।
उन्होनें मुख्यमंत्री द्वारा मिलें निर्देशों की अनुपालना में सम्बधिंत अधिकारियों को निर्देश दिए कि रबी के सीजन को देखते हुए खाद की जरूरत पड़ेगी, इसलिए पर्याप्त संख्या में खादों के बैग उपलब्ध होने चाहिए, इस विषय को पूरी गम्भीरता के साथ लिया जाए। किसानों को खाद के दृष्टिïगत किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए। उन्होनें यह भी कहा कि खाद वितरण केन्द्रो की व्यवस्था बेहतरीन हो, किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाए। नशा मुक्ति केन्द्रों के लाईसेंस चैक किए जाए और जिनके पास लाईसेंस नहीं हैं, ऐसे नशा मुक्ति केन्द्र नहीं चलने चाहिए, इतना ही नहीं सम्बधिंत अधिकारी समय-समय पर नशा मुक्ति केन्द्रों का दौरा करें। पंचायती राज संस्थाओं तथा अन्य समाज सेवी संस्थाओं के लोगों की एक कमेटी बनाकर जिला को ड्रग फ्री बनाने का सहयोग करें। उन्होनें यह भी कहा कि जागरूकता अभियान चलाया जाए, जब मांग ही नहीं होगी तब सप्लाई भी नहीं होगी, इसके लिए जिला स्तरीय तालमेल कमेटी बनाना भी सम्बधिंत अधिकारी सुनिश्चित करें।
सडक़ सुरक्षा सम्बधी विषय पर उन्होनें कहा कि सर्दी के मौसम को देखते हुए धुंध या कोहरे की समस्या हो सकती हैं, ऐसा होने से सडक़ दुर्घटनाएं होने की आशंका बनी रहती है, इसलिए लोक निर्माण के अधिकारी फोग साईन, रिफलैक्टर, जैबरा क्रॉसिंग, सकेंत पटों की व्यवस्था करें । उन्होनें यह भी कहा कि दुर्घटनाओं का कारण ओवर लोडिंग भी होती हैं, इसलिए रोड सेफटी संगठनों की बैठक बुलाकर ओवर लोडिंग के चालान किए जाए। निर्देशों की अनुपालना में डीसी ने अधिकारियों को कहा कि बीपीएल के कार्ड योग्य पात्रों के ही होने चाहिए, इस विषय को लेकर भी ध्यान देने की जरूरत हैं। 
स्वच्छता अभियान सम्बधी विषय पर बोलते हुए उन्होनें कहा कि सिंगल यूज प्लास्टिक और पोलिथीन इत्यादि के प्रयोग पर प्रतिबन्ध हैं, इसलिए सम्बधिंत अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि कहीं भी ये चीजें प्रयोग में नहीं लानी चाहिए। अगले साल के प्रारम्भ में स्वच्छ सर्वेक्षण भी होगा इसलिए सभी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में विशेष ध्यान दें। उन्होनें यह भी कहा कि जिला में सिंगल यूज प्लास्टिक और पोलिथीन कोलेक्शन सैन्टर खोले गए हैं, जहां पर प्लास्टिक और पोलिथीन के बदले जिला के दानवीरों की मदद से उतने ही वजन के चावल दिए जा रहें हैं। इस व्यवस्था को भी आगे बढ़ाने की जरूरत हैं, ताकि जिलें को प्लास्टिक मुक्त करने में मदद मिल सके। इस मौके पर एडीसी जगदीप ढांडा, एसीयूटी अखिल पिलानी सहित सम्बधिंत अधिकारी उपस्थित रहें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।