ब्रह्मा रथ यात्रा से ब्रह्ममयी हुई धर्मनगरी, उमड़ा श्रद्धा का सैलाब जय ओंकार आश्रम की ओर से शहर में निकाली गई भगवान श्री ब्रह्मरथ यात्रा
November 12th, 2019 | Post by :- | 150 Views
कुरुक्षेत्र, ( सुरेश पाल सिंहमार )    ।        कार्तिक पूर्णिमा के उपलक्ष्य में विश्व में एकमात्र ब्रह्मा मदिर जय ओंकार अंतर्राष्ट्रीय सेवाश्रम संघ की ओर से भगवान श्री ब्रह्मा रथ यात्रा निकाली गई। आयोजन में दूर-दराज से आए श्रद्धालुओं ने श्रद्धा के साथ हिस्सा लिया और रथ खींच धर्म लाभ कमाया। संघ संस्थापक श्री श्री 1008 स्वामी शक्तिदेव जी महाराज कुरड़ी वाले व स्वामी 1008 स्वामी संतोष ओकार जी महाराज कुरड़ी वाले के सानिध्य में आयोजित कार्यक्रम में सुबह हवण यज्ञ का आयोजन किया गया। इसके बाद विधिवत मंत्रोच्चारण के साथ भगवान श्री ब्रह्मा परिवार का दुगधाभिषेक कर सुंदर वस्त्रों से सुसज्जित कर उन्हें शंख घड़ोल के साथ भगवान श्री ब्रह्मा रथ पर स्थापित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता संघ के अध्यक्ष स्वामी संदीप ओकार ने की। वहीं मुख्यातिथि के रुप में विधायक सुभाष सुधा व पानीपत विधायक महिपाल ढांडा ने शिरकत की और ब्रह्मा मंदिर में पूजन कर आर्शीवाद प्राप्त किया। इस अवसर पर जय ओंकार आश्रम के संचालक पंडित शिव नारायण दीक्षित, विधायक ईश्वर सिंह के पुत्र वधू रेखा मेहरा, अंतरराष्ट्रीय ब्राह्मण संगठन से डॉक्टर धर्म सिंह कौशिक, अंजली बंसल, राजवीर सिंह व डा. सुभाष शर्मा ने विशेष रूप से शिरकत की।
108 झांकियों में ब्रह्मा रथ रहा आकर्षण का केन्द्र
ओंकार यज्ञ उपरांत भगवान ब्रह्मा रथ यात्रा निकाली गई। यात्रा में 108 झाकियां शामिल की गई। इनमें मुख्य तौर पर गउ माता, भगवान ब्रह्मा परिवार, राधा कृष्ण, लड्डू गौपाल, वेदवती, शिव पार्वति, राम दरबार, लक्ष्मी-नारायण, सती अनुसूईया, मीरां बाई, हनुमान, नवदुर्गा सहित देवी मां के नौ रूप शमिल रहे। इनमें भगवान ब्रह्मा रथ की झांकी आकर्षण का केंद्र रही। वहीं सपेरा बीन, आर्मी बैंड, ऊंट व घोड़ों ने भी झाकियों की शोभा बढ़ाई।
1008 महिलाओं ने शीश पर मंगल कलश धारण क र मांगी खुशहाली 
शोभायात्रा में 1008 महिलाओं ने उपवास कर अपने शीश पर मंगल कलश सजाया। इस दौरान उन्होंने भगवान ब्रह्मा का जयघोष और जय गुरुदेव जय ओंकार महामंत्र का जाप कर सबकी खुशहाली की मन्नतें मांगी। वहीं इससे पहले आश्रम में 1008 कन्याओं का स्वामी संदीप ओंकार महाराज ने विधिवत रूप से पूजन कर भंडारे का श्री गणेश किया।
कार्तिक पूर्णिमा भगवान ब्रह्मा का विशेष दिवस, पूजन करने पर बरसती है कृपा : स्वामी शक्तिदेव 
स्वामी शक्तिदेव महाराज ने श्रद्धालुओं को प्रेरित करते हुए कहा कि कार्तिक पूर्णिमा भगवान ब्रह्मा जी का विशेष दिवस है। इस दिन भगवान ब्रह्मा जी की रथ यात्रा निकालने का सतयुग से विधान है। उन्होंने कहा कि हमें इस पर्व पर विशेष रूप से शामिल होना चाहिए और भगवान ब्रह्मा के रथ के दर्शन करने चाहिए।  वहीं रथ को श्रद्धा के साथ खीचने वाले जीव पर सृष्टि रचिता ब्रह्मा भगवान की विशेष कृपा प्राप्त होती है। इससे पहले भजन संध्या का भी आयोजन किया गया। जिसमें भजन गायकों ने गुरु महिमा व भगवान ब्रह्मा की महिमा का बखान किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।