हरियाणा हयूमन राईट कमीशन के चेयरमैन एवं रिटायर्ड चीफ जस्टिस एस.के. मित्तलने आज केन्द्रीय कारागार अम्बाला का निरीक्षण कर बंदियों व कैदियों को दी जा रही सुविधाओं का जायजा लिया।
November 8th, 2019 | Post by :- | 99 Views

अम्बाला, (अशोक शर्मा)

हरियाणा हयूमन राईट कमीशन के चेयरमैन एवं रिटायर्ड चीफ जस्टिस एस.के. मित्तल, कमीशन के सदस्य दीप भाटिया, रजिस्ट्रार कुलदीप जैन, स्पेशल सचिव गुलशन खुराना ने आज केन्द्रीय कारागार अम्बाला का निरीक्षण कर बंदियों व कैदियों को दी जा रही सुविधाओं का जायजा लिया। इस मौके पर उनके साथ जेल अधीक्षक लखबीर बराड़, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं सीजेएम दानिश गुप्ता विशेष तौर पर उपस्थित रहे। इससे पूर्व लोक निर्माण विश्राम गृह अम्बाला शहर में चेयरमैन व सदस्य का यहां पहुंचने पर जिला एवं सत्र न्यायधीश कमलकांत, उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा, पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल, सीजेएम विवेक यादव व अन्य अधिकारियों ने पुष्पगुच्छ देकर उनका स्वागत किया।
हरियाणा हयूमन राईट कमीशन के चेयरमैन एस.के. मित्तल ने केन्द्रीय कारागार का निरीक्षण करते हुए बंदियों व कैदियों को जेल में दी जा रही स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सुविधा, पेयजल व्यवस्था, मैडिकल व्यवस्था, खाने की व्यवस्था, लिगल ऐड सहित अन्य सुविधाओं बारे जेल अधीक्षक से जानकारी हासिल की। उन्होंने निरीक्षण के दौरान बताया कि हरियाणा हयूमन राईट कमीशन द्वारा जेलों का निरीक्षण किए जाने का मुख्य उद्देश्य यही है कि यहां पर बंदियों व कैदियों को जो सुविधाएं दी जा रही हैं उसकी जानकारी ली जा सके, जो भी कमी या सुधार की आवश्यकता हो उस बारे हरियाणा सरकार को पत्र लिखकर अवगत करवाया जा सके ताकि बंदियों व कैदियों को और बेहतर व्यवस्था मिल सके। उन्होंने बताया कि हयूमन राईट कमीशन द्वारा कुरूक्षेत्र व गुरूग्राम जेलों का दौरा किया जा चुका है। 11 नवम्बर को रेवाड़ी में केन्द्रीय कारागार का निरीक्षण किया जायेगा। इसी प्रकार प्रदेश की जो अन्य जेलें है उनका भी निरीक्षण किया जायेगा। निरीक्षण के दौरान उन्होंने बेकरी यूनिट, किचन वार्ड, महिला वार्ड, जेल अस्पताल, लिगल ऐड रूम, पिक्स कोलिंग सिस्टम रूम के साथ-साथ धून कार्यक्रम कक्ष का निरीक्षण किया। उन्होंने बेकरी यूनिट में बनाये गये उत्पादों के स्वाद को भी चखा तथा उनकी सराहना भी की। इसके अलावा बंदियों व कैदियों के लिए बनाये जाने वाले किचन वार्ड की व्यवस्था तथा सफाई व्यवस्था का भी जायजा लिया। उन्होंने जेल परिसर में बनाई गई फैक्टरी में बंदियों व कैदियों द्वारा लकड़ी के जो उत्पाद बनाये गये थे उन्हें भी देखा और उनकी भी जमकर सराहना की। उन्होंने धून कार्यक्रम कक्ष का भी जायजा लिया और बंदियों व कैदियों द्वारा संगीत क्षेत्र में भी आगे बढऩे के लिए उन्हें प्रोत्साहित किए जाने की भी सराहना की। उन्होंंने केन्द्रीय कारागार में बंदियोंं व हवालातियों को दी जा रही सुविधाओं पर संतोष व्यक्त किया।
जेल अधीक्षक लखबीर बराड़ ने चेयरमैन को अवगत करवाते हुए बताया कि जेल प्रशासन द्वारा बंदियों व कैदियों को बेहतर सुविधा देने का काम किया जा रहा है। समय-समय पर जो भी रूपरेखा तैयार होती है उसके मुताबिक कार्य किये जाते हैं। धून कार्यक्रम इसी कड़ी में शामिल हैं। जेल प्रशासन का पूरा प्रयास रहता है कि नियमों के मुताबिक बंदियों व कैदियोंं को बेहतर से बेहतर सुविधा दिलवाने का काम किया जाता है।
इस मौके पर सीजेएम विवेक यादव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं सीजेएम दानिश गुप्ता, डीएसपी भूपिन्द्र सिंह, विशाल छिब्बर सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।