कर्मचारियों से किए जा रहे भेदभाव-शोषण के खिलाफ एनआरएमयू ने की गेट मीटिंग
November 7th, 2019 | Post by :- | 132 Views
कालका (रोहित शर्मा) । कालका वर्कशॉप में एनआरएमयू के द्वारा एक गेट मीटिंग की गई। इस दौरान सचिव संजीव कुमार ने सह निर्माण प्रबंधक कालका के द्वारा कर्मचारियों से किए जा रहे भेद-भाव, शोषण के खिलाफ खुलकर बात की। उन्होंने बताया कि कैसे सह निर्माण प्रबंधक कालका द्वारा प्राइवेट कंपनी को लाभ पहुंचाने का काम किया जा रहा है। ठेकेदार के द्वारा बनाई गई डिब्बों मे किसी भी तरह की कोई सेफ्टी कोई भी गुणवत्ता व बेहतर कार्य नहीं किया गया, जिसे सह निर्माण प्रबंधक कालका प्रशासन के उच्च अधिकारियों से छुपाने की कोशिश कर रहा है। और उस खराब कार्य को ठीक करने के लिए कालका वर्कशॉप के कर्मचारियों पर दबाब बना रहा है। जबकि ठेकेदार को एक डिब्बे का लगभग 15 लाख रुपये दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि यदि 15 लाख के आसपास एक डिब्बे का ठेकेदार को दिया जा रहा है, तो उसकी गुणवत्ता और उसमे सुधार ठेकेदार द्वारा ही किया जाना चाहिए। इसके साथ ही यदि प्रशासन के द्वारा जल्द ही कोई सुधार नहीं किया गया। तो यह प्रदर्शन और बड़ा रूप ले सकता है, जिसका जिम्मेदार प्रशासन होगा। इस मौके पर ए.डी.एस. पुशपिंदर शर्मा, सह सचिव कमल कुमार, गगन दीप, उपाध्यक्ष किरन रेखा, जतिन्द्र कुमार नेगी व कैशियर चौधरी प्रकाश सिंह समेत भारी संख्या में कर्मचारि मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।