( विडियो भी देखे ) गुरमीत राम रहीम की राजदार हनीप्रीत को जमानत, 803 दिन बाद अंबाला जेल से हुई रिहा, सिरसा के लिए रवाना
November 6th, 2019 | Post by :- | 231 Views

पंचकूला, ( महिन्द्र पाल सिंहमार ) ।    अंबाला सेंट्रल जेल में देशद्रोह सहित विभिन्न मामलों में विचाराधीन राम रहीम की मुहं बोली बेटी हनीप्रीत उर्फ प्रियंका तनेजा सेंट्रल जेल से दो साल तीन महीने बाद रिहा हुई। शाम छह बजे सेंट्रल जेल से रिहा किया गया। मंगलवार को सीबीआई कोर्ट ने जमानत पर रिहा करने के आदेश जारी किए। हनीप्रीत  पंजाब नंबर की एक गाड़ी में रवाना हुई। पंजाब की पीबी 10 ईडी 0041 में अंबाला सेंट्रल जेल से हनीप्रीत निकली। इस दौरान उसने किसी से बात नहीं की। हनीप्रीत भारी सुरक्षा के बीच निकाली गई।

हनीप्रीत को तीन अक्टूबर 2017 को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसके बाद से ही वह अंबाला सेंट्रल जेल में बंद थी। हनीप्रीत की रिहाई का जैसे ही समाचार चला तो हनीप्रीत के परिजनों सहित सभी की निगाहें उसके सेंट्रल जेल से निकलने पर टिक गई।

सेंट्रल जेल में फिर मिला हनीप्रीत को वीवीआईपी ट्रीटमेंट 
डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की सबसे राजदार उसकी मुंह बोली हनीप्रीत को अंबाला सेंट्रल जेल से आखिरकार दो साल तीन महीने के बाद रिहा कर दिया गया। रिहाई के दौरान भी हनीप्रीत को वीवीआईपी ट्रीटमेंट दिया गया। हनीप्रीत की रिहाई के लिए सीधे सेंट्रल जेल के मुख्य द्वार में पंजाब नंबर की फार्चूनर गाड़ी ने प्रवेश किया।

यहीं से सेंट्रल जेल के भीतर ही हनीप्रीत को इस गाड़ी में बिठा दिया गया। इससे पहले इस गाड़ी को पुलिस की तीन गाड़ियों ने एक्सकोर्ट दिया। अलबत्ता हनीप्रीत की रिहाई भी उसी वीवीआईपी अंदाज में हुई जिस वीवीआईपी अंदाज में उससे मिलने वालों को सेंट्रल जेल में भेजा जाता था।

रिहाई के समय कार में बैठी हुई हनीप्रीत ने पीले रंग का सूट पहने हुए था। सेंट्रल जेल से निकलते ही फार्चूनर ने तेज रफ्तार पकड़ ली और वह सभी की आंखों से ओझल हो गई।

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।