में गौ शरीर में सभी देवताओं का वासः जैन
November 4th, 2019 | Post by :- | 146 Views

 

सोनीपत, लोकहित एक्सप्रैस, ( अश्वनी गोयल ) l
मुख्यमंत्री के पूर्व मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने कहा कि गौ शरीर में सभी देवताओं का वास होता है। इसलिए गौ पूजा से उन देवताओं की भी पूजा स्वतः हो जाती है। उन्होंने कहा कि इंद्र के अहंकार को भगवान श्रीकृष्ण ने दूर किया था।

सोमवार को जटवाडा स्थित गौशाला में गोपाष्टमी अवसर पर गौपूजन करते हुए मुख्यमंत्री के पूर्व मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा से लेकर सप्तमी तक गाय व सभी गोप-गोपियों की रक्षा के लिए अपनी एक अंगुली पर धारण किया था। गोवर्धन पर्वत को धारण करते समय गोप-गोपिकाओं ने अपनी-अपनी लाठियों को भी टिका दिया था, जिसका उन्हें अहंकार हो गया कि हम लोगों ने ही गोवर्धन पर्वत को उठाया था। उनके अहंकार को दूर करने के लिए भगवान ने अपनी अंगुली थोडी तिरछी की तो पर्वत नीचे आने लगा, तब सभी ने एक साथ शरणागति की पुकार लगाई और भगवान ने पर्वत को फिर से थाम लिया। देवराज इंद्र को भी अहंकार था कि मेरे प्रलयकारी मेघों की प्रचंड बौछारों को श्रीकृष्ण और उनके ग्वालवाल नहीं झेल पाएंगे। परंतु जब लगातार 7 दिन तक प्रलयकारी वर्षा के बाद भी श्रीकृष्ण अडिग रहे, तब 8वें दिन इंद्र की आंख खुली और उनका अहंकार दूर हुआ। उन्होंने कहा कि आज भी हमें अहंकार को दूर कर सबको साथ लेकर चलना चाहिए, ताकि समाज को मजबूत बनाया जा सके। इस मौके पर आयोजकों द्वारा भंडारा का आयोजन किया गया। इस मौके पर महताब खत्री, अनिल गुप्ता, अखिल कुच्छल, सुरेश गुप्ता, दिनेष कुच्छल, महेंद्र गोयल, महेश गोयल, नरेश गोयल, विजय मंगला, अशोक खत्री आदि मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।