ब्रजमंडल में धूमधाम से गोपाष्टमी मनाई गई
November 4th, 2019 | Post by :- | 187 Views

छाता ,मथुरा (राजकुमार गुप्ता) कार्तिक शुक्ल पक्ष की अष्टमी के दिन भगवान श्री कृष्ण ने और उनके बड़़े भाई     श्री बलराम जी ने माता यशोदा और नंद बाबा से गाय चराने जाने की जिद की थी। बाबा नंद और माता यशोदा ने यह देखते हुए कि बच्चे छोटे हैं ।और जिद करने पर गाय तो नहीं उनको बछड़े चराने के लिए भेजा था तभी से यह दिन गौ चारण दिवस,गोपाष्टमी दिवस के रूप में ही मनाया जाता रहा है।आज भी वृन्दावन में ,गोकुल,मथुरा और नंदग्राम में उमंग और उल्लास से यह उत्सव मनाया जाता है। छोटे छोटे बच्चों को कृष्ण और बलराम जी के स्वरूप में बछड़े चराने भेज कर इस तरह से यह उत्सव मनाया जाता रहा है।आप सब को ब्रजभूमि में मनाये जाने वाले इसीलिए आज के दिन जगह-जगह गौ माता की सेवा की जाती है एवं गौ पूजन  किया जाता है कहते हैं कि गोऊ की सेवा करने से बैकुंठ धाम की प्राप्ति होती है । आज के दिन से ही पांच दिवसीय तीन वन की परिक्रमा चालू होती है श्रद्धालु अपनी मनोकामना के साथ तीन बन की परिक्रमा देने ब्रज में आते हैं ।लाखों श्रद्धालु तीन वन की परिक्रमाा करते । तीन वन की परिक्रमा करने के बाद ऐसा कहा जाता वृंदावन की परिक्रमा करना भी बहुत जरूरी है । जय श्री कृष्ण, जय गौ माता। सभी देशवासियों को गोपाअष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।