बिना रोशनी वालों को जन्माष्टमी की रोशनी देकर अपना-अपना नाम कृतार्थ किया: ज्ञानानंद
August 23rd, 2019 | Post by :- | 103 Views

पानीपत (अमित जैन)

सबको रोशनी फाउंडेशन द्वारा जन्माष्टमी महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज ने प्रवचन में कहा कि बिना रोशनी वालों को जन्माष्टमी की रोशनी देकर अपना-अपना नाम कृतार्थ किया।

महाराज ने कहा कि नेत्रहीन भी चाहते हैं कि समाज की मुख्यधारा से जुड़ कर वह भी श्री कृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार मनाए पानीपत नगर वासियों ने सबको रोशनी फाउंडेशन के साथ मिलकर पूरे देश में ब्रेल लिपि गीता पाठ आयोजित करके एक अनूठा उदाहरण देश के सामने प्रस्तुत किया है।

श्री कृष्ण कृपा धाम वृंदावन के अंतर्गत देश के सभी अन्य विद्यालयों को को ब्रेल लिपि की गीता उपलब्ध कराने के प्रयास जारी है कुछ नेत्रहीन विद्यार्थियों ने जन्माष्टमी के पर्व पर ब्रेल लिपि का गीता पाठ आयोजित करके समाज के हर वर्ग को एक नया संदेश दिया हैI

निरंजन पराशर ने निरंतर 600 श्लोकों की आहुति का हवन किया संस्था के अध्यक्ष सतवीर गोयल की अध्यक्षता में हनुमान चालीसा की 40 चौपाइयों की भी हवन में आहुति दी गई I

भाजपा के जिला अध्यक्ष प्रमोद विज शहरी विधायिका रोहिता रेवड़ी ने कहा कि विद्यार्थियों की हर जरूरत में पूरा पानीपत सदैव तत्पर है कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रमेश बंसल ने कहा की सभी नेत्रहीन विद्यार्थियो आगामी माह में वृंदावन बिहारी जी के दर्शन करने के लिए ले जाया जायेगा।

विद्यालय के प्रधानाचार्य मनीष जैन व सबको रोशनी रोशनी फाउंडेशन के संस्थापक संयोजक विकास गोयल ने भी अपने विचार रखें I

इस अवसर पर रमेश माटा, सूरज सूरज पहलवान, वेद प्रकाश शर्मा, विनोद धमीजा, सुनील तुली, राजेश गर्ग ,सुशील गुप्ता, आरती सिंगला, इंदु कुकरेजा,विमल बंसल, संदीप जिंदल,सुनील ग्रोवर, विभु पालीवाल,अनिल गर्ग, सतपाल गोयल, संजय साल वाले, हरीश बंसल, नवीन वर्मा, कांग्रेस नेता संजय अग्रवाल, पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह , महेश नारंग, विजय जैन, मेघराज गुप्ता, पार्षद लोकेश नागरू मनीष जैन, युधिष्ठिर शर्मा वह मेहुल जैन आदि मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।