कस्बा के कॉलेज में अचानक लगी आग को मीडिया व इंसा ग्रीन वेलफेयर सदस्य द्वारा पाया काबू
October 26th, 2019 | Post by :- | 148 Views

अंबाला , बराड़ा ( गुरप्रीत सिंह मुल्तानी )
कस्बा स्थित खालसा लबाणा गर्ल्स कालेज की केंटिन में शाम 5 बजे अचानक आग लग गई। गेट पर खड़े सुरक्षा गार्ड व मार्केट के दुकानदारों ने कालेज में से धूंआ निकलता देखा तो सभी केंटिन की ओर दोड़े। केंटिन के पास जाकर देखा तो केंटिन में से आग की लपटे निकल रही थी। आग इतनी भयानक थी कि कोई भी आग की लपटे देख आग बुझाने की हिम्मत नही कर पा रहा था। मौके पर पहुंचे मीडिया कर्मचारी जगजीत सिंह, संदीप सांतरे समाज सेवी अजय कुमार व सतीश इंसां ग्रीन फेलफेयर सदस्य ने मिल कर आग पर काबू पाने का प्रयास किया। लेकिन आग की लपटे बढ़ती ही जा रही थी। सूचना मिलते ही बराड़ा थाना प्रभारी सतीश कुमार पुलिस कर्मचारियों सहित घटना स्थल पर पहुंच गए। पुलिस ने अंबाला स्थित फायर बिग्रेड सेंटर को कालेज में आग लगने की घटना बारे सूचित किया। लेकिन फायर बिग्रेड की गाड़ी मौके पर नही पहुंची । जबकि कालेज मैनेजमेंट के कर्मचारी मौके पर पहुंंचे जिसके बाद लोगों ने टंकियों से पाईप लगा आग पर पानी डाला तो किसी ने दवाजे तोड़े । लेकिन कोई फायदा नही हुआ। बाद में ट्यूबवैल से पाईप लगा कर आग बुझाई बड़ी मशक्कत के बाद दो घंटे में आग पर काबू पा लिया। केंटिन में आग लगने की बात सुनते ही केंटिन संचालक रणजीत सिंह भी मौके पर पहुंंच गया। जिसने बताया कि केंटिन में करीब 7 लाख का सामान था। वीरवार को ही वह दो लाख का सामान मार्केट से खरीद कर लाया था। केंटिन में लगी आग से हुआ नुकसान देख कर वह चक्कर खा कर गिर गया। लोगों ने उसे पानी पीलाया ओर ढ़ाढस बधाई कर बाहर ले गए। आग लगने का कारण बिजली का शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। अंबाला से 2 फायर ब्रिगेड  की गाड़ी आग बुझने के बाद मौके पर पहुंची।

गैस से भरे सिलेंडर केेंटिन में होने पर डर गए लोग कहीं सिलेंडर में आग लगने से न हो जाए धमाका बड़ी मशक्कत के बाद निकाले बाहर:- केंटिन में करीब 5 सिलेडर गैस के थे। जिनमें से 4 सिलेंडर खाली थे जबकि एक सिलेेंडर गैस से भरा हुआ था। जिस कारण लोग अंदर जाते हुए डर रहे थे। लोगों का डर था कि अगर सिलेंडरों तक आग पहुंच गई तो एक बहुत बड़ा हादसा हो सकता है। किसी की जान भी जा सकती है। लेकिन मीडिया कर्मचारी जगजीत सिंह कंग व संदीप सांतरे ने हिम्मत कर गीला कपडा सिर पर रख कर कैंटीन में जाकर पांचों सिलेंडर बाहर ले आए जिसके बाद लोगों ने चैन की सांस ली ओर आग पर काबू पाने में लग गए थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।