जिला प्रशासन ने फ़ूड सेवा क्लब को प्रशस्ति पत्र से किया सम्मानित।
August 18th, 2019 | Post by :- | 157 Views

पानीपत (अमित जैन)

73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पानीपत जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं को भी सम्मानित किया गया। जिसमें मुख्यातिथि शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन द्वारा पानीपत फूड सेवा क्लब को भी विशेष रूप से सम्मानित किया।

क्लब के अध्यक्ष अक्षय मिगलानी ने जानकारी देते हुए बताया कि क्लब की शुरुआत उन्होंने 2016 में की थी उन्होंने अपने एक दोस्त के साथ मिलकर सपना देखा था कि अपनी मां के नाम से एक संस्था बनाऊँ जिसमें हर वो व्यक्ति जिसे किसी कारणवश भोजन नहीं मिल पाता।

जंहा 24 घंटे निशुल्क भोजन कर पाए। इसके लिए अक्षय ने खुद से ही शुरुआत की और तब उनके पास आमदनी के भी कुछ विशेष साधन नहीं थे।एक साधारण परिवार में अक्षय मिगलानी का जन्म हुआ पिताजी एक हस्पताल के बाहर चाय की कैंटीन चलाते थे।

बड़े होने पर अक्षय ने फैक्ट्री में काम किया जो भी कुछ आमदनी हुई उससे ही क्लब की शुरुआत करते हुए अपने निजी जीवन मे अक्षय ने खुद को इस काबिल बनाया की अपने परिवारिक जीवन के साथ-साथ समाजिक हित में कार्य कर सके।और क्लब का कारवां बढ़ते-बढ़ते लगभग 500 साथियों का हो गया है

*क्लब का एक ही सपना भूखा ना रहे कोई अपना* जो आज पानीपत के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर उन गरीब भूखों को भोजन करवाता है जिसमें पहली शुरुआत असंध रोड,कोढ़ी आश्रम सोधापुर, सेक्टर 25 ओल्ड इंडस्ट्री एरिया, भगत सिंह मार्केट झुग्गी झोपड़ियों आदि में रहने वाले गरीब परिवारों व बच्चों को भोजन करवाते है।
इसके साथ ही जो बच्चे किसी कारणवश पढ़ नहीं पाते या जो बच्चे पढ़ रहे हैं। उनके पास पढ़ाई के पर्याप्त साधन नहीं हो पाते उनको पर्याप्त साधन देने व शिक्षित करने का काम भी क्लब द्वारा समय-समय पर किया जाता है।

प्रशासन द्वारा प्रशस्ति पत्र मिलने पर क्लब के सभी सदस्यों ने प्रशासन का तहे दिल से धन्यवाद किया।और अक्षय ने कहा कि यह प्रशस्ति पत्र लेना हमारा मकसद नहीं है।

हमारा मकसद तो केवल हर वह इंसान जो भारत में रहता है। वह हमारा अपना है।जिसकी हर किसी इंसान को इंसान होने के नाते जो संभव मदद हो वह करनी चाहिए।तभी यह जो सपना आज फ़ूड सेवा क्लब का है वह कल हर इंसान का बन सकता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।