मतदान केंद्र के 200 मीटर की परिधि से बाहर होगा पार्टियों का बूथ
October 20th, 2019 | Post by :- | 92 Views

सोनीपत, लोकहित एक्सप्रैस, ( अश्वनी गोयल ) l
राजनीतिक दल व प्रत्याशी अपना बूथ मतदान केंद्र के 200 मीटर के बाहर ही बना सकेंगे। बूथ पर प्रत्याशी अपना चुनाव चिन्ह का बैनर आयोग के निर्धारित साईज का ही लगा सकेगा। बूथ पर दो से अधिक व्यक्ति नहीं बैठ सकते। इसके अलावा दो से अधिक पोलिंग बूथों वाले केंद्रों पर हैल्प डैस्क लगाएगा, जिसमें संबंधित बीएलओ को लगाया गया है, जोकि मतदाता को उनके बूथ के बारे में जानकारी देगा।

सभी छ: विधानसभा क्षेत्र में 1213 बूथ, 64 बूथ संवेदनशील व अति संवेदनशील, 84 बूथ खर्च संवेदनशील

जिला के सभी छ: विधानसभा क्षेत्र में कुल 1213 बूथ हैं। जिला की सभी छ: विधानसभाओं के लिए 72 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। जिला में कुल 64 बूथ संवेदनशील व अति संवेदनशील तथा 84 बूथ खर्च संवेदनशील बनाए गए हैं।

उपायुक्त ने सभी विधानसभा क्षेत्रों के काउंटरों पर जाकर दिए निर्देश

उपायुक्त डॉ० अंशज सिंह ने रविवार को बीट्स कॉलेज मोहाना में मतदान सामग्री वितरण के दौरान सभी छ: विधानसभा केन्द्रों के काउंटरों पर जाकर जानकारी ली व दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने सभी को शांतिपूर्ण व निष्पक्ष ढंग से चुनाव संपन्न करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हम सभी पर लोकतंत्र में चुनाव को संपन्न करवाने की बड़ी जिम्मेदारी है। इसलिए हमें सभी नियमों के अनुसार बेहतर ढंग से कार्य करना है और निष्पक्ष ढंग से पूरी जिम्मेदारी के साथ चुनाव को संपन्न करवाना है।

साढ़े चार हजार अधिकारी-कर्मचारी चुनाव प्रबंधन व केन्द्रीय सुरक्षा बल व मेघालय पुलिस के 9 कंपनियां व साढे तीन हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी संभालेंगे सुरक्षा की कमान

निष्पक्ष, शांतिपूर्वक व निर्भिक रूप से मतदान के लिए जिला व पुलिस प्रशासन ने पूरी तैयारी कर दी है। जहां साढ़े चार हजार से अधिक अधिकारी व कर्मचारी चुनाव प्रक्रिया को सम्पन्न करवाएंगे, वहीं केन्द्रीय सुरक्षा बल व मेघालय पुलिस की 9 कंपनियों के अलावा साढे तीन हजार से अधिक पुलिस जवान सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता बनाएंगे। होमगार्ड के 1373 से ज्यादा जवान भी सुरक्षा की कमान संभालेंगे।  पुलिस अधीक्षक प्रतीक्षा गोदारा ने पुलिस जवानों को चुनाव ड्यूटी को पूरी मुश्तैदी से निभाने के निर्देश दिए हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।