एक कमरे में बसर कर रहा रे निबासी तृप्ता देवी का परिवार
October 18th, 2019 | Post by :- | 191 Views

 

 

गगन ललगोत्रा(व्यूरो कांगड़ा)

 

 

 

एक कमरे में बसर कर रहा तृप्ता देवी का परिवार

आम गरीब जनता के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही समस्त योजनाएं मात्र कोरी धोषणाए है।ऐसा ही मामला उपमंडल फ़तेहपुर में ग्राम पंचायत रे के वार्ड नम्बर 3 अगाहर में सामने आया है ।वही तृप्ता देवी पत्नी कमीशन लाल के पास एक कमरा कच्चा मकान है वह भी जर जर हालात में उस में रहने वालों की संख्या 8 लोग है किंतु हालात को देखते हुए तृप्ता देवी ने अपने तीन लड़को सहित 400 में किराए के मकान ले लिया। ग्राम पंचायत रे ने उक्त परिबार को न तो आई आर डी पी योजना में डाला, किसी आवास योजना के तहत मकान का प्रबंध कारबाया और न ही स्वच्छ भारत योजना के तहत शौचालय का निर्माण कारबाया।तृप्ता देवी का कहना है कि सरकार द्वारा बिभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही है पर गरीब लोगों तक नही पहुच रही है ।दिन भर लकड़ियां इकठी करके चूल्हे चोंके का भी काम करना पड़ता है ।उन्होंने बताया कि उज्बला योजना के तहत गेस कुनेक्शन की सुविधा तक भी प्राप्त नही हुई है।ओर न ही बृद्धा बस्था पेंशन लगी है।तृप्ता देवी ने क्षेत्र के समाजसेवी रमेश कालिया से मिली ओर अपनी ब्यथा सुनाई ।रमेश कालिया ने मौके का जायजा लिया और ग्राम पंचायत प्रधान रे को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ”अगर यह तृप्ता देवी अपनी पंचायत में अंतिम गरीब ब्यक्ति नही है तो क्या आप है या स्थानीय विधायक है।उन्होंने सरकार व प्रशाशन से गुहार लगाई है कि इस परिबार को सरकार द्वारा चलाई जा रही गरीबो के विकास के लिए योजनाओं का लाभ नही दिया गया तो जिलाधीश कांगड़ा को समस्त परिवार लेकर ज्ञापन दिया जाएगा।

इस बारे जब बी डी ओ फ़तेहपुर
ज्ञान प्यारी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत रे का जल्द ही दौरा किया जाएगा और तृप्ता देवी के घर का जायजा लिया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।