एनजीटी के नियमों की खुले आम उड़ाई जा रही हैं धज्जियाँ |
October 18th, 2019 | Post by :- | 158 Views
एनजीटी के नियमों की खुले आम उड़ाई जा रही हैं धज्जियाँ |

अधिकारी चुनावों में व्यस्त, जनता गन्दगी से त्रस्त |

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट/चौ० सतपाल) :- सरकार इन दिनों पराली आदि के जलाने को लेकर काफ़ी सख्त रवैया अपना रही हैं वही दूसरी तरफ़ कस्बा हसनपुर में लगभग एक एकड़ ज़मीन हसनपुर बस स्टैंड बनाने के लिए ग्राम पंचायत सह्नौली द्वारा हरियाणा रोडवेज को दी गई हैं | इस जगह पर बस स्टैंड का विधिवत शिलान्यास मुख्यमन्त्री द्वारा किया जा चुका हैं | लेकिन ना जाने किस कारणवश भवन निर्माण कार्य प्रारम्भ नही हो सका हैं

इस खाली पड़ी जगह में गन्दगी का अम्बार लगा हुआ हैं और इस कुढ़े के ढेर में आये दिन आग लगा दी जाती हैं | इस खाली जगह में गंदे पानी का जलभराव भी हैं जिसके चलते आस-पास के रहने वालों का जीना दूभर हो गया हैं | गन्दे पानी के भराव व गंदे कुढ़े के ढेरों से भयंकर बीमारियाँ होने का खतरा लगातार बना हुआ हैं | इसी के पास एक प्राईवेट स्कूल भी  चलता हैं जिसमें सैकड़ों बच्चे पढने आते हैं और इस जमीन के पास ही उन्हें गुजरना होता हैं | विचारणीय बात यह भी हैं इस जगह के साथ-साथ हसनपुर उपतहसील कार्यालय व खण्ड विकाश व पंचायत अधिकारी कार्यालय भी हैं |

तस्वीरें साफ़ बयाँ कर रही हैं आये दिन इस कुढ़े के ढेरों में आग लगा दी जाती हैं जिसके चलते धुंए व बदबू से दोनों कार्यालयों में काम करने व कराने आने वालों को मजबूरन इस धुएं और बदबू से दो चार होना पड़ता हैं | इसी सन्दर्भ में ग्राम पंचायत हसनपुर व सह्नौली के सरपंचों से जानना चाहा तो उनका जबाब था कि अब इस भूमि से उनका कोई लेना-देना नही हैं इस पर अब हरियाणा रोडवेज का अधिकार हैं |

उपतहसील परिसर के अधिवक्तागण दीपक अरोड़ा, सौरव राजपूत, विरेंद्र राजपूत, मोहित वशिष्ठ, प्रदीप, हेमन्त कुमार शर्मा, विष्णु कुमार, देवेन्द्र कुमार, रामेश्वर, मनोज कुमार, सुरेन्द्र कुमार, तोताराम, टीकाराम चेतन शर्मा, सुनील कुमार आदि व ग्रामीणों ने कहा इस सन्दर्भ में अनेकों बार अधिकारियों को कहा जा चुका हैं अधिकारी स्वम इस स्थिति से वाकिफ हैं उनका भी प्रतिदिन यही से आना जाना होता हैं परन्तु कार्यवाही करने के नाम पर आज तक स्थिति जस की तस बनी हुई हैं | इन दिनों अधिकारी तो चुनावों में व्यस्त हैं लेकिन आम आम जनता त्रस्त हैं | शिकायत करें तो किस से करें |

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।