चुनावों की घोषणाओं से लेकर 21 अक्तूबर, 2019 सायं 6:30 बजे तक प्रिंट या इलेक्ट्रोनिक मीडिया द्वारा ऐसे एग्जिट पोल के परिणामों के प्रकाशन या प्रचार अथवा किसी भी अन्य तरीके से उसके प्रसार पर प्रतिबंध रहेगा
October 16th, 2019 | Post by :- | 90 Views

चंडीगढ़, ( महिन्द्र पाल सिंहमार ) ।  भारत निर्वाचन आयोग ने अधिसूचित किया है कि चुनावों की घोषणाओं से लेकर 21 अक्तूबर, 2019 सायं 6:30 बजे तक की अवधि के दौरान हरियाणा में विधानसभा आम चुनाव 2019 के लिए होने वाले मतदान के सम्बन्ध में किसी भी प्रकार के एग्जिट पोल के संचालन और उसके परिणामों तथा प्रिंट या इलेक्ट्रोनिक मीडिया द्वारा ऐसे एग्जिट पोल के परिणामों के प्रकाशन या प्रचार अथवा किसी भी अन्य तरीके से उसके प्रसार पर प्रतिबंध रहेगा।

हरियाणा के संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. इन्द्र जीत ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा में 21 अक्तूबर, 2019 को सुबह 7.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक मतदान होगा। लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा 126क के प्रावधानों के अनुसार संबंधित मतदान क्षेत्रों में मतदान की समाप्ति के लिए नियत समय के साथ समाप्त होने वाले 48 घण्टों की अवधि और मतदान समाप्ति के समय के आधे घंटे बाद तक किसी भी प्रकार के निर्वाचन संबंधी मामलों का, ओपिनियन पोल या अन्य किसी पोल सर्वे के परिणामों का इलेक्ट्रोनिक मीडिया व प्रिंट मीडिया के माध्यम से प्रदर्शन करने पर प्रतिबंध रहेगा।

उन्होंने बताया कि लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा 126क के अनुसार इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अन्तगर्त इंटरनेट, रेिडयो और टेलीविजन, जिसमें इंटरनेट प्रोटोकॉल टेलीविजन, सेटेलाइट, क्षेत्रीय या केबल चैनल, मोबाइल और ऐसा अन्य मीडिया सम्मिलित है जो सरकार के या निजी या दोनों के स्वामित्वाधीन है। प्रिंट मीडिया के अंतर्गत कोई समाचार पत्र, पत्रिका या नियतकालिक पत्रिका, या कोई अन्य दस्तावेज शामिल हैं।

गौरतलब है कि हरियाणा के साथ-साथ महाराष्ट्र के आम विधानसभा चुनाव और 17 राज्यों की 51 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव तथा बिहार की एक संसदीय निर्वाचन क्षेत्र, महाराष्ट्र की एक संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के उपचुनाव 21 अक्तूबर, 2019 को ही होने हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।