ओवरलोड टीप्पर ने रौंदा मोटरसाइकिल, चालक की मौत
October 16th, 2019 | Post by :- | 112 Views

ओवरलोड टिप्परों पर आंखे मूंद बैठा प्रशासन, लोगों में रोष

रायपुर रानी, लोकहित एक्सप्रेस
नारायणगढ़ से रायपुर रानी की ओर चल रहे ओवरलोड टिप्परों ने लोगो का जीना मुश्किल किया हुआ है। इन ओवरलोड वाहनों की वजह से हर रोज एक जिंदगी खत्म हो रही है। क्षेत्र में जबसे खनन का कार्य शुरू हुआ है तभी से खनन कार्यो में लगे वाहन दिन रात ओवरलोड और तेज रफ्तार से सड़क पर सरपट दौड़ रहे है। नारायणगढ़ से पंचकूला तक सड़क पर सबसे ज्यादा हादसे ओवरलोड वाहनों की तेज रफ्तार व बिना लाइसेंस वाले ड्राइवरो की वजह हो रहे है। मोटरसाइकिल पर चलने वाले लोगो को तो टिप्पर पर बैठा चालक चींटी समझकर रौंद देता है और प्रशासन ओवरलोड वाहनों के खिलाफ कोई सख्ती नही बरतता। इसी रोज बुधवार सुबह मोटरसाइकिल में तेल डलवाने के लिए पेट्रोलपंप की तरफ जा रहे एक मोटरसाइकिल चालक को नारायणगढ़ की ओर से आ रहे तेज रफ्तार टिप्पर चालक ने रौंद दिया। हादसा इतना दर्दनाक था कि मोटरसाइकिल सवार युवक की आन्तड़िया शरीर से बाहर निकल आई और देखने वाले राहगीरों की भी आंखे नम हो गयी। जानकारी अनुसार कॉ-ऑपरेटिव बैंक में मैनेजर के पद पर कार्यरत राममूर्ति (47) वासी रायपुर रानी अपने मोटरसाइकिल नम्बर एचआर-03वी-0454 पर घर से बाइक में पेट्रोल डलवाने गढ़ी पेट्रोलपंप पर जा रहे थे। तहसील कार्यालय से थोड़ी आगे जाने पर गलत दिशा में आ रहे ओवरलोड टिप्पर नम्बर एचआर-37सी-2213 ने मोटरसाइकिल को टक्कर मारकर चालक को कुचल डाला। मोटरसाइकिल चालक की मौका पर ही मौत हो गयी। दुर्घटना के बाद टिप्पर चालक मौका से भाग निकला। घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस अधिकारी कश्मीरा सिंह अपनी टीम के साथ घटनास्थल पर पहुँचे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और ।मामले की जांच में जुट गई। मोटरसाइकिल चालक राममूर्ति की मौत की खबर सुनते ही पूरे क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ पड़ी। मृतक राममूर्ति के दो लकड़ियां व एक बेटा है, जिनमे से अभी किसी भी शादी नही हुई। घर व मोहल्ले में मातम छा गया है। अस्पताल से लेकर मृतक के घर पर लोगो का हजूम एकत्रित हो गया। स्थानीय लोगो ने चेतावनी देते हुए एक सुर में प्रशासन को चेताया कि ओवरलोड और बिना नम्बर, बिना ड्राइविंग लाइसेंस के चलने वाले वाहनों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाये नही तो जल्द ही जन आंदोलन शुरू किया जायेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।