भगवान वाल्मीकि जी का पावन प्रकट दिवस बड़ी ही धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया
October 15th, 2019 | Post by :- | 64 Views

अंबाला , बराड़ा ( गुरप्रीत सिंह मुल्तानी )
आदि कवि त्रिकालदर्शी भगवान वाल्मीकि जी का पावन प्रकट दिवस बड़ी ही धूमधाम एंव हर्षोल्लास के साथ वाल्मीकि समाज के नोजवान युवाओं द्वारा वाल्मीकि नगर गांव बराड़ा में मनाया गया। वाल्मीकि सभा बराड़ा के उपप्रधान वीर जरनैल सिंह ने बताया कि भगवान वाल्मीकि जी के हाथ में जो कलम है वह पूरे संसार को शिक्षित होने का इशारा कर रही है। “ये कलम प्रभु वाली शिक्षा के इशारे करती है” उन्होंने सभी युवाओं से अनुरोध किया कि वे भी शिक्षा की ओर अग्रसर हों। उन्होंने कहा कि भण्डारे का आयोजन वीर विक्रान्त घारू द्वारा किया गया।

उन्होंने यह भी बताया कि इस प्रकट दिवस वाल्मीकि सभा बराड़ा द्वारा एक एहम फैंसला लिया गया की मृत्यु होने के पश्चात जो रस्म पगडी होती है जिसमें की ससुराल पक्ष से सोने व चांदी के जेवर व सभी रिश्तेदारों के कपड़ों का प्रबंध किया जाता है। इस व्यवस्था पर वाल्मीकि सभा बराड़ा ने प्रतिबन्ध लगा दिया है। सभा के इस फैंसले से वाल्मीकि समाज बराड़ा की सभी महिलाओं बच्चों व बुजुर्गों में खुशी की लहर है। इस दौरान प्रधान रामेश्वर दास, उप प्रधान जरनैल सिंह, महासचिव विक्रान्त बराड़ा, कोषाध्यक्ष बिंदर, विजय मचल, मन्नी सांद्र, नरेश घारू, डॉ अशोक कुमार, डॉ शयाम लाल, डॉ हरपाल सिंह तरसेम, बलविंदर, रोशन लाल, डॉ जसमेर, मायाराम, सुरेश कुमार, पन्नी देवी, बिमला देवी, बिना, मंजित कौर, केला देवी, मेवा रानी, पूजा, रिम्पी, नीरू, गंगा, स्वीटी, नीलम, सुधा मचल आदि उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।