वरुण पथ जैन मंदिर पर “सुधा सागर संत भवन” के विस्तार और नवीनीकरण कार्य का हुआ शिलान्यास
October 13th, 2019 | Post by :- | 91 Views

जयपुर,(सुरेन्द्र कुमार सोनो) । शहर के मानसरोवर स्थित दिगम्बर जैन समाज के सबसे प्राचीन वरुण पथ दिगम्बर जैन मंदिर पर रविवार को दूसरे दिन शरद पूर्णिमा के अवसर पर गणाचार्य विराग सागर महाराज के शिष्य मुनि विश्वास सागर महाराज एवं मुनि विभंजन सागर महाराज ससंघ सानिध्य एवं प्रतिष्ठाचार्य प्रधुम्न शास्त्री के निर्देशन में प्रातः 9.15 बजे मंत्रोउच्चार और जयकारों के साथ निर्यापक मुनि पुंगव सुधा सागर महाराज के निर्देशन एवं आशीर्वाद से जिनालय के “संत भवन” के विस्तार कार्य और नवीनीकरण का शिलान्यास समाज के विभिन्न श्रेष्ठियों के रत्न,स्वर्ण,रजत और ताम्र जड़ित शिलाओं को स्थापित कर शिलान्यास किया गया। इससे पूर्व प्रातः 6 बजे समारोह का शुभारंभ मूलनायक भगवान महावीर स्वामी के स्वर्ण एवं रजत कलशों से कलशाभिषेक और शांतिधारा कर प्रारम्भ हुआ। अध्यक्ष एमपी जैन और प्रचार संयोजक अभिषेक जैन बिट्टू ने बताया संत भवन के शिलान्यास समारोह के दौरान युगल मुनिराज ससंघ सानिध्य में मंत्रोउच्चार के साथ भूमि पूजन आदि की क्रिया विधि सम्पन्न की गई। जिसके उपरांत समाज श्रेष्ठियों और पुण्यार्जक परिवारजनों द्वारा अष्ट द्रव्यों से पूजन कर क्रिया विधि सम्पन्न की गई। प्रतिष्ठाचार्य प्रधुम्न शास्त्री के निर्देशन में भूमि का शुद्धिकरण संस्कार किया गया और नींव बनाई गई। जिसके शिलान्यास के तौर पर पुण्यार्जक परिवारों द्वारा रत्नों से निर्मित शिलाएं और स्वर्ण शिलाएं विधि विधान के साथ स्थापित की। इस दौरान संत भवन में योगदान देने वाले परिवारों द्वारा रजत और ताम्र शिलाएं स्थापित की गई। इससे पूर्व भूमि में नवरत्न,स्वस्तिक आदि स्थापित किये गए। कार्यक्रम के दौरान समाजसेवी विनय सौगानी,सुरेशचंद जैन बांदीकुई,प्रेमचंद छाबड़ा,पुष्पेंद्र अशोक जैन पचेवर,श्यामा देवी सुनील,सुनीता गोधा,रतन लाल पाटनी अजित जैन बीओबी,संतोष,सतीश,मुकेश कासलीवाल,हीरालाल,सुनील, पंकज गंगवाल,सौरभ जैन महुवा वाले,पूरनमल अनोपडा, अरुण शैलबाला पाटनी,रविन्द्र अखिलेश पांड्या,मुकुट हेमेंद्र सेठी,पूर्व मंत्री महावीर बाकलीवाल,गिरीश जैन सहित अन्य पुण्यार्जक परिवारों ने समारोह में सम्मिलित होकर शिलाएं स्थापित कर संत भवन का शिलान्यास किया। मंत्री जेके जैन ने बताया कि समारोह के दौरान मन्दिर के तीनों प्रमुख शिखरों पर भी श्रृंगार कार्य का शिलान्यास पुण्यार्जक परिवारों द्वारा किया गया। शिलान्यास के दौरान तीनों शिखरों पर पुण्यार्जक परिवारों द्वारा गुलाबी पत्थर को स्थापित कर श्रृंगार कार्य का शिलान्यास किया।
*1 करोड़ से भी अधिक राशि से होगा नवनिर्माण:
मंत्री जेके जैन ने बताया कि वरुण पथ दिगम्बर जैन मंदिर में नवनिर्माण के तहत 16 कमरें और भव्य टेरिस का निर्माण किया जाएगा। अभी संत भवन दो मंजिला है जो नवनिर्माण के तहत 4 मंजिला हो जाएगा। संत भवन के विस्तार के बाद कुल 26 कमरे,भव्य टेरिस,5 छोटे हॉल और लिफ्ट हो जाएंगे। जिस पर करीबन 1 करोड़ से अधिक की लागत इस भवन पर लगेगी। समाज की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखकर संत भवन का विस्तार किया जा रहा है। 15 वर्ष पूर्व इस संत भवन का निर्माण हुआ था। जिससे साधु-संतों के लिए निर्मित किया गया था। अब नवनिर्माण के बाद यह भवन समाज के लिए भी उपयोगी साबित होगा जिससे वह छोटे मोटे आयोजनों के लिए इस्तेमाल कर सकते है। अभी साधु होने की स्थिति में यह किसी को उपयोग के लिए नही दिया जाता है। संगठन मंत्री सुनील गंगवाल ने बताया कि 27 अक्टूबर को जैन धर्म के 24 वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का निर्वाण कल्याणक पर्व मनाया जाएगा इस अवसर पर युगल मुनिराज ससंघ सानिध्य में महावीर भगवान का कलशाभिषेक और शांतिधारा कर मंत्रोउच्चार व निर्वाण कांड पाठ के साथ मोक्ष कल्याण अर्घ चढ़ा निर्वाण लड्डू चढ़ाया जाएगा। इस आयोजन में वरुण पथ जैन समाज के 650 परिवारों के 4000 हजार से अधिक श्रद्धालुगण एकत्रित होंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।