खाद्य एवं औषधि प्रशासन द्वारा कांकेर मेला में की गई कार्रवाई 32 दुकानों से 11600 रू जुर्माना व आमानक खाद्य सामग्री को किया नष्ट
January 9th, 2024 | Post by :- | 772 Views

कांकेर मेला में लगें सभी खाद्य सामग्री विक्रेताओं के दुकानों पर खाद एवं औषधि प्रशासन के अधिकारियों ने औचक निरीक्षण किया इस दौरान खाद्य अधिकारियों ने मेला में कई दुकानों पर अमानक खाद्य सामग्री पाया है जिसे मौके पर ही नष्ट कर दिया गया है साथ ही 32 दुकानों पर 11600 जुर्माना भी लगाया गया है वही सभी दुकानदारों को चेतावनी भी दिया गया है।

कांकेर खाद्य एवं औषधि प्रशासन के खाद्य सुरक्षा अधिकारी विमल कुमार सिंह, औषधि निरीक्षक सुनील मंडावी, लैब टेक्नीशियन प्रमोद पटेल, लैब अटेंडेंट डिगेंद्र साहू, खाद्य विभाग के खाद्य निरीक्षक पूजा थेर, नगर पालिका निगम से केशव जैन की संयुक्त टीम द्वारा कांकेर मेला का दिनांक 8 और 9 जनवरी को निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान खुले में बिक रहे खाद्य पदार्थों की जांच के दौरान सामरत साहू, तेस राम सिन्हा, सुनहेर निषाद के दुकान में कीट पतंगे लगे हुए रसगुल्ला को मौके पर नष्ट कराया गया, संदेश चाउमीन के पास 20 पैकेट फफूंद लगे ब्रेड पाया गया जिसे नष्ट कराया गया, सोनम साहू जलेबी सेंटर में गुलाब जामुन में बाल पाया गया जिसे मौके पर नष्ट किया गया, सभी दुकानदारों को खुले में विक्रय नही करने के चेतावनी दी गई एवं सामरत साहू होटल, ललेश निषाद होटल, तेजराम सिन्हा होटल, पुरुषोत्तम निषाद होटल, हेमंत निषाद होटल, हेमराज होटल, सोनू राम होटल, संत राम चाट विक्रेता, राजेश नेताम होटल, देवचरण साहू होटल, नरेंद्र पटेल होटल, परस होटल, नकुल राम होटल, गोपाल राम चाट विक्रेता, पुनित दास साहू होटल, कलिमा साहू होटल, कार्तिक साहू होटल, परितोष गाई होटल, अनिल कुमार होटल लालेश्वर साहू होटल, विभाष दास होटल, हालदार चिकन सेंटर, मनोज चाट विक्रेता, अनिल कुमार होटल, समीर चौहान चाट विक्रेता, जयंती लाल होटल, आशा साहू होटल, नरेश साहू होटल, गिरधारी लाल होटल, हेमलाल होटल, चंद्रभान होटल, वीरेंद्र निषाद होटल कुल 32 खाद्य दुकानों से खाद्य पदार्थों में धूल लगे, गंदगी, साफ सफाई नही, ढके नही रहने के कारण कुल 11600 रुपए की जुर्माना राशि वसूल करते हुए खाद्य पदार्थों को सही तरीके से ढक कर विक्रय करने की समझाइश दी गई।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review