यादगार शब्दों का सफर ‘ काव्य संग्रह 66 देशों में रिलीज – संपादक डाॅ देवदास
January 3rd, 2024 | Post by :- | 97 Views

गरियाबंद_यादगार शब्दों का सफर एक अनूठा काव्य संग्रह है। जिसमें रामायण कालीन युग से लेकर वर्तमान युग तक अयोध्या और छत्तीसगढ़ के अटूट रिश्तों का, मानवीय संबंधों का एवं कौशल्या मंदिर चंदखुरी में आयोजित होने वाले ऐतिहासिक कार्यक्रमों को संपादक ने विशेष आलेख में उल्लेख किया है। जिसका विमोचन विश्व प्रसिद्ध कौशल्या माता मंदिर चंदखुरी में नये वर्ष के शुभागमन पर किया गया। इस काव्य संग्रह के संपादक हैं राष्ट्रपति एवं राज्यपाल पुरस्कृत सेवानिवृत्त प्रधान पाठक एवं साहित्यकार डाॅ मुन्ना लाल देवदास इस संदर्भ में हमारे लोकहित न्यूज संवाददाता ने व्योरा दी कि कौशल्या माता मंदिर में नये साल के प्रथम दिन में ही ऐतिहासिक भीड़ रही। देश के अलग अलग प्रांतों से हजारों श्रद्धालु परिवार सहित आए थे । यहाँ सुबह से लेकर रात्रि 9 बजे तक दर्शनार्थियों की लाईन लगी रही। दर्शनार्थियों की आस्था और विश्वास को ध्यान में रखकर मंदिर समिति द्वारा रामचरित मानस गान का आयोजन किया गया । जिसमें मंगल आरती के बाद यादगार शब्दों का सफर काव्य संग्रह का विमोचन हुआ। विमोचन कौशल्या मंदिर समिति के अध्यक्ष देवेन्द्र वर्मा, उपाध्यक्ष रामस्वरुप वर्मा, कोषाध्यक्ष घनश्याम वर्मा एवं समस्त पदाधिकारियों, सदस्यों, की उपस्थिति में किया गया। जिसमें उपस्थित जन समूह ने काव्य संग्रह के संपादक डाॅ देवदास को उनके अच्छे प्रयास के लिए बधाई एवं शुभकामनाएं दी। आगे संवाददाता ने कहा कि इस काव्य संग्रह में देश के प्रतिष्ठित और नवोदित रचनाकारों की विभिन्न रचनाएं हिन्दी अंग्रेजी और तेलगू भाषा में है। जिसमें प्रमुख शोधपरक आलेख डाॅ महेर अफजल एन जागीरदार, आलूरु अनुराधा, हफ्साबीबी ए एच, डाॅ राजाबाई , डाॅ एस एम शब्बीर, डाॅ सुषमा सिंह, पी पांडुरंग राव, दिनेश कमलेकर, डाॅ मैत्रीसिंह, महिपाल सिंह विजयरनिया, विजय खंडेलवाल, डाॅ तपस्या चौहान, डा आशुतोष, डाॅ हर्षवर्धन पटवाल, डा चक्रपाल सिंह, डा जयप्रकाश प्रजापति, डा रेखराज साहू, प्रो. कमला मधुकरराव, डा जय प्रकाश नागला, डा जगदीश चौहान, डा जगन्नाथ बघेल, डा आर बी पटेल आदि। कुल 95 साहित्यकार और कवियों की रचनाएं शामिल है। जिसे गीता प्रकाशन हैदराबाद द्वारा प्रकाशित किया गया है। संपादक डाॅ मुन्ना लाल देवदास ने मंच में विमोचन अवसर पर कहा कि ‘ यादगार शब्दों का सफर ‘ अपने नाम के अनुरूप नये साल में ‘ यादगार ‘ बन गया , साथ ही जनता का आशीर्वाद और प्यार हमारे लिए ‘ यादगार ‘ बन गया। इसी प्रकार हमारे अगले ज्ञानवर्धक और रोचक काव्य संग्रह ‘ कलम मेरी पहचान ‘ के नाम से प्रकाशित हो रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review