अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव अब बना आत्मनिर्भर फेस्टीवेल:सुधा
December 24th, 2023 | Post by :- | 184 Views
कुरुक्षेत्र 24 दिसंबर विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सोच के अनुसार अब अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव आत्मनिर्भर फेस्टीवेल के रूप में स्थापित हो गया है। इस महोत्सव पर लगभग 3 से 4 करोड़ रुपये का खर्च होगा और कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड को झुलों, पार्किंग, फूड स्टॉल व अन्य माध्यमों से करीब 2.75 से लेकर 3 करोड़ रुपये की आय होने का अनुमान है। इस प्रकार महोत्सव का खर्च और आय लगभग बराबर के आसपास पंहुच गया है। अहम पहलू यह है कि अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव ने अपना एक स्थाई स्वरूप के रूप में पहचान बना ली है। इस महोत्सव में लाखों लोगों ने अपनी भागीदारी सुनिश्चित की है।
विधायक सुभाष सुधा ने बातचीत करते हुए कहा कि अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव 2023 से उत्तर क्षेत्र सांस्कृतिक कला क्षेत्र पटियाल की तरफ से 20 राज्यों से 250 से अधिक शिल्पकार पंहुचे और डीआरडीए की तरफ से 19 राज्यों की तरफ से 100 शिल्पी पंहुचे। इसके अलावा एनजैडसीसी से 19 से ज्यादा राज्यों के कलाकारों ने अपने-अपने प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत को पर्यटकों से समक्ष रखा और इस महोत्सव को यादगार बनाने का काम किया। इस महोत्सव में देश के उपराष्टï्रपति जगदीप धनखड़, केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्टï्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डïा, राज्यपाल बंडारु दत्तात्रेय, मुख्यमंत्री मनोहर लाल, असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा सहित प्रदेश के सांसदगण, विधायकगण, मंत्रीगण तथा श्रीलंका, जापान सहित विभिन्न देशों के प्रतिनिधि भी पंहुचे। महोत्सव में गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानन्द, स्वामी रामदेव, स्वामी अवधेशानंद महाराज, स्वामी परमात्मा नंद, स्वामी राजेन्द्रदास, स्वामी ब्रह्मïानंद, स्वामी ब्रह्मïस्वरूप ब्रह्मïचारी, बाबा भूपेन्द्र सिंह, स्वामी डा. शास्वतानंद महाराज जैसे जाने-माने संतों ने भी महोत्सव की अध्यात्मिक रूप से शोभा बढ़ाने का काम किया। इसके अलावा मुख्यमंत्री मनोहर लाल के उपहारों को लेकर लगाए गए उपहार बिक्री केंद्र भी आकर्षण का केंद्र बने रहे और लोगों ने करीब 4.50 लाख रुपए की राशि से मुख्यमंत्री के उपहारों को खरीदा।
कुरुक्षेत्र 48 कोस की सूची में शामिल हुए 18 नये तीर्थ
विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि कुरुक्षेत्र 48 कोस की भूमि पर 18 नये तीर्थों का समावेश किया गया है। अब इन तीर्थों की संख्या 164 से बढक़र 182 पर पंहुच गई है। इन नये तीर्थों में सूरजकुंड कैथल, बुद्घ कुंड कैथल, बृहस्पति कुंड कैथल, शुक्र कुंड कैथल, शनि कुंड कैथल, कुलतारण तीर्थ कैथल, द्वादश राशि तीर्थ मियोली कैथल, शुद्घास्पत तीर्थ गांव प्यौदा कैथल, सर्वरोगहर तीर्थ पिलणी कैथल, नीराकार तीर्थ गांव पिलणी कैथल, कनवऋषि आश्रम गांव डीग कैथल, वीर बरबरीक श्याम तीर्थ सिसला कैथल, त्रिसंध्या तीर्थ गांव संधौली कुरुक्षेत्र, रामशरण तीर्थ गांव हथनाना करनाल, सोहम तीर्थ गांव साहनपुर जींद, पराशर तीर्थ पाजू कला जींद, चौंसठ योगिनी तीर्थ कलावती जींद, गोबिंद कुंड गांव राजपुरा भैन जींद शामिल हैं।
ब्रह्मïसरोवर पर कोरिडोर बनाने का रखा प्रस्ताव
विधायक सुभाष सुधा ने 48 कोस तीर्थ सम्मेलन के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल के समक्ष कुरुक्षेत्र के पर्यटन को और अधिक विकसित करने के लिये कईं प्रस्ताव रखे। इन प्रस्तावों में ब्रह्मïसरोवर के चारों तरफ कोरिडोर बनाने, कुरुक्षेत्र के लोगों को ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिये बाईपास का जल्द निर्माण करवाने, कुरुक्षेत्र के प्रवेश पर भव्य द्वारों का निर्माण करने, ब्रह्मïसरोवर पर लेजर शो स्थापित करने आदि मांगों को रखा। इन मांगों को पूरा करने के लिये विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्टï्रीय संयोजक दिनेश ने भी मुख्यमंत्री से सिफारिश की। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ब्रह्मïसरोवर पर अगले गीता महोत्सव से पहले लेजर शो लगाने की मांग को पूरा करने के आदेश दिये। इसके अलावा सभी मांगों पर फिजिबलिटी रिपोर्ट आने के बाद पूरा किया जाएगा।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review