फिर मिलेंगे…अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव-2024
December 24th, 2023 | Post by :- | 399 Views
कुरुक्षेत्र 24 दिसंबर अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव-2023 ने राष्ट्र ही नहीं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी एक पहचान बना ली है। इस महोत्सव के क्राफ्ट और सरस मेले के अंतिम दिन शिल्पकार और कलाकार रुख्सत होने से पहले अपने स्टॉलों और घाटों पर पर्यटकों गर्मजोशी के साथ स्वागत करते नजर आए और जाते-जाते कभी अलविदा ना कहना…अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव-2024 अगले वर्ष में फिर मिलेंगे का वादा किया। यह महोत्सव पूर्ण सुरक्षा और व्यवस्था के बीच सफल आयोजन के साथ सम्पन्न हुआ। अहम पहलु यह है कि आगामी वर्ष में अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव-2024 में संभावित 11 दिसंबर 2024 के दिन दीपदान कार्यक्रम होगा।
उपायुक्त शांतनु शर्मा ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव 2023 को यादगार और सफल बनाने के लिए अधिकारियों, कर्मचारियों, मीडिया कर्मियों और शहर का आम नागरिकों का भरपूर सहयोग मिला। सभी के सांझे प्रयासों से यह महोत्सव सफलता पूर्ण रुप से सम्पन्न हुआ। अब इस महोत्सव ने लोगों के दिलों में अपनी स्थाई पहचान बना ली है। इस महोत्सव में यह देखने को मिला कि हरियाणा ही नहीं देश के कोने-कोने से लोग शिल्पकला का दीदार करने के लिए पहुंचे है। सोशल साईटस के जरिए इस महोत्सव की झलकियों को दुनिया के कोने-कोने में बैठकर लोगों ने देखा है। इस महोत्सव का लाखों लोगों ने अवलोकन किया।
उन्होंने कहा कि ब्रह्मसरोवर तट पर 7 दिसंबर से 24 दिसंबर 2023 तक चले अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव-2023 का विधिवत समापन हुआ। महोत्सव में आए शिल्पकार अगले साल फिर से आने का वादा कर रुख्सत हुए। इस उत्सव में देश व प्रदेश के कोने-कोने से सांस्कृतिक कलाकारों व शिल्पकारों ने भाग लिया। यहां के लोगों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम देखकर कलाकारों का हौसला बढ़ाया। ठंड का मौसम होने के बावजूद रोजाना पर्यटकों व श्रद्धालुओं ने इस महोत्सव में आकर जमकर खरीददारी की। अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव में देश-विदेश के लाखों पर्यटकों व श्रद्धालुओं ने शिरकत की है।
विभिन्न राज्यों के हजारों कलाकारों ने दिखाए अपनी कला के रंग
अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव-2023 में पार्टनर कंट्री श्रीलंका व पार्टनर स्टेट असम के साथ-साथ देश के विभिन्न राज्यों से आए कलाकारों ने 7 दिसंबर से 24 दिसंबर तक मुख्य मंच, हरियाणा व असम पैवेलियन, सांस्कृतिक संध्या, ब्रह्मसरोवर के घाटों पर रोजाना सांस्कृतिक प्रोग्राम प्रस्तुत कर पर्यटकों का मनोरंजन किया। इसके अलावा 48 कोस के 164 तीर्थों पर भी सांस्कृतिक कार्यक्रमों व जिला स्तरीय कार्यक्रमों में भी अपनी प्रस्तुति दी है। इस महोत्सव में जहां आरती स्थल पर संध्या के समय विभिन्न नामी कलाकार अपने कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। वहीं इसके साथ-साथ मुख्य पांडाल में सांध्यकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी प्रसिद्घ अभिनेत्री भाग्यश्री, गजेंद्र फौगाट, महावीर गुड्डïू, नितिश भारद्वाज, अभिवंदन, रंजू प्रसाद, एसएस प्रसाद आदि ने अपने कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। इसके साथ-साथ हरियाणा व असम पैवेलियन में हरियाणा और असम की सांस्कृतिक विरासत के झरोखों को भी देखने का सुनहरी अवसर मिला।
हजारों सूचनाओं से मिला पर्यटकों को फायदा
जिला सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा स्टाल नंबर एक पर बनाए गए सूचना केंद्र पर 7 दिसंबर से 24 दिसंबर तक हजारों सूचनाएं देकर बिछड़ों को मिलाने, खोए हुए बच्चों को अभिभावकों से मिलाने, स्कूलों के विद्यार्थियों के साथ-साथ खोए हुए सामान व अन्य मामलों का निपटारा करने का काम किया गया। इस सूचना केंद्र की कमान खंड प्रचार कार्यकर्ता मनोज कुमार, बरखा राम, कृष्ण लाल, राजेंद्र आदि ने संभाली हुई थी। इन लोगों ने लगातार 18 दिन तक पूरी ईमानदारी से डयूटी करके मेला क्षेत्र में पर्यटकों तक हजारों सूचनाओं को पहुंचाने का काम किया। ये सभी कर्मचारी अलसुबह से लेकर देर रात्रि तक अपनी डयूटी पर पूरी मुस्तैदी से डटे रहे।
नगाड़ा पार्टी, बहरूपिए व कच्ची घोड़ी रही आकर्षण का केंद्र
सांस्कृतिक कलाकारों के अलावा नागाड़ा पार्टी, राजस्थान के बहरूपिए व कच्ची घोड़ी के साथ-साथ पंजाब से आए बाजीगर ग्रुप भी महोत्सव में आकर्षण का केंद्र रहे। बांस के डंडों को पैरों से बांधकर लम्बू बने कलाकारों ने जहां बच्चों का खुब मनोरंजन किया, वहीं विभिन्न स्थानों पर बनाए गए सेल्फी प्वाईट पर सेल्फी खिंचने का पर्यटकों में खुब के्रज रहा।
मीडिया, समाजसेवी संस्थाओं, शहरवासियों व अधिकारियों का किया आभार व्यक्त
उपायुक्त शांतनु शर्मा ने अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव-2023 के सफल आयोजन पर सभी पत्रकार व छायाकारों, समाजसेवी व धार्मिक संस्थाओं, शहरवासियों और अधिकारियों, कर्मचारियों तथा कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड का विशेष रूप से आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि तमाम लोगों के संयुक्त प्रयास से ही 7 दिसंबर से 24 दिसंबर 2023 तक चला यह महोत्सव सफल रहा।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review