शब्दों की बगिया ‘ में हिन्दी अंग्रेजी तेलगू आदि के रचनाकारों का समन्वय – डाॅ देवदास
November 23rd, 2023 | Post by :- | 116 Views

✍️लोकहित एक्सप्रेस न्यूज़ संवाददाता विक्रम कुमार नागेश की रिपोर्ट गरियाबंद छत्तीसगढ़ 

गरियाबंद_शब्दों की बगिया ‘ एक अभिनव संकलन है। जिसमें देश के विभिन्न प्रांतों के प्रतिष्ठित और नवोदित रचनाकारों की रचनाओं को सम्मान दिया गया है। शब्दों की बगिया में हिन्दी अंग्रेजी तेलगू आदि की रचनाएं प्रकाशित हुई है। जो विभिन्न प्रकार के फूलों से सजे हुए एक सुंदर गुलदस्ते की तरह दिखाई देती है इस संदर्भ में हमारे लोकहित एक्सप्रेस न्यूज संवाददाता को जानकारी देते हुए पुस्तक के प्रमुख संपादक राष्ट्रपति एवं राज्यपाल पुरस्कृत डाॅ मुन्ना लाल देवदास ने कहा कि शब्दों की बगिया पुस्तक तीन खंड में विभाजित है। प्रथम खंड में विविध विषयों पर आधारित ज्ञानवर्धक साहित्यिक लेख है । द्वितीय खंड में बहुरंगी कविताएं है और तृतीय खंड में सतरंगी कहानियाँ है, जो जीवन में लक्ष्य साधने हेतु प्रेरित करती है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।

डाॅ देवदास ने आगे कहा कि शब्दों की खूबसूरत बगिया में देश के अनेक भाषाओं के रचनाकारों की रचनाओं को आगामी बुक में शामिल करने हेतु हमारी टीम प्रयासरत है । ताकि आने वाली पीढ़ी के लिए वह धरोहर बन सके। यह बुक शब्दों की बगिया गीता प्रकाशन हैदराबाद से प्रकाशित हुई है। इसमें कुल 232 पेज है। पुस्तक की कीमत 279 रु. है । यह 66 देशों में रिलीज हुई है और अमेजान पर भी उपलब्ध है। इसके संपादक मंडल में डाॅ चन्द्रकांत बिरादार, अरुण मोहन एम आर, डाॅ आर एन शीला, रजिया सुल्ताना और डाॅ बी तिरुमला देवी हैं।

इसी प्रकार प्रतिष्ठित कलमकार है डाॅ महेर अफजल , डा एस कल्याणी, डा आशुतोष, डा मनोहर गोरे, डा जयप्रकाश प्रजापति, डा राजबाला गुप्ता, डा जगदीश चौहान, डा दिव्या, डा रेखराज साहू, डा जगन्नाथ बघेल, डा राजाबाई, डा मैत्रीसिंह ठाकुर, डा नीता द भोसले, डा वंदना विजय लक्ष्मी, डा सुनील पाटिल, प्रो कमला मधुकरराव,प्रो एन शांति कोकिला,निखीलेश ओझा, इंदिरा सी ठाकुर, अर्चना पांडे, अमला देवी, हफ्साबीवी ए एच. पं मुकेश चतुर्वेदी, गिरीश चन्द्र ओझा, व्याख्याता दुष्यंत कुमार वर्मा, वीरेन्द्र सिंह ठाकुर, महदीप जंघेल, पोयम शरण साहू, नूतन साहू, केसरबेन राजपुरोहित, अमान आदिलाबादी, ओम प्रकाश द्विवेदी, दिनेश कमलेकर, धर्मेन्द्र प्रताप सिंह, पी पांडुरंग राव, विजय खंडेलवाल, गीतिका सक्सेना, पी यादव ओज, फरजाना, समीउल्लाह खान, राम अवतार प्रशांत, साधना ठाकुर, मल्लिकार्जुन, साजीत कलीम पाशा, विलाश एस राठौर, महिपाल सिंह विजयरनिया, सिरिसिल्ला गफूर, शीतल गुप्ता, वी एन वी पदमावती, चवाकुल रामाकृष्ण राव, ज्ञानेन्द्र पांडे, प्रकाश वाल्के यल्लपु मुकुंद रामाराव, टी चौधरी, ओमप्रकाश कुशवाहा, सुरेन्द्र कुमार सागर, राममूर्ति यादव, शिवकुमार श्रीवास्तव, नीलिमा डेहरिया, बी सुगना कुमारी, रेखा सुमन,मोहम्मद अजमीर, महेन्द्र प्रताप सिंह, के कृष्णा, रोक्कम कामेश्वर राव, जयेन्द्र कदम, रामनरेश शर्मा, मधु बिलल्ला, के रामचंदर, इंदु सिंह, शेफाली सहासमल, शांतप्पा चराल, रेखा देवी, सुनीता खंडेलवाल, यश अनंताचारी, के पदमजा, संतोष कुमार सैनी, प्रीति तिवारी, सुजन विश्वास, चन्द्रहास सेन, छाया दोन्दलकर, कल्पना दोन्दलकर, राजेन्द्र कुमार साहू, मोहम्मद मुन्नी, योगेश कुमार पथिक, कावेरी, राधिका, जयश्री देवीदास, विधिराय, अच्युत उमर्जी सुधा, अनीता अग्रवाल आदि है। डा देवदास ने कहा कि हमारी आगामी पुस्तक है ‘ यादगार शब्दों का सफर ‘ …

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review