हिंडौन में सजा भगवान श्याम का दरबार, वृंदावन के प्रसिद्ध गायक बाबा चित्र-विचित्र द्वारा प्रस्तुत भजनों की गंगा में हजारों श्रोताओं ने लगाई डूबकी
October 9th, 2019 | Post by :- | 160 Views

हिंडौन सिटी। बुधवार को हिण्डौन नगरी बाबा श्याम के रंग में रंग गयी। मोहन नगर क्षेत्र बाबा के जयकारों से गुंजायमान हो गया। वृंदावन के प्रसिद्ध भजन गायक बाबा चित्र-विचित्र की भजन संध्या में बुधवार की रात हजारों श्रोता बाबा श्याम की भक्ति में लीन हो गए। बाबा चित्र-विचित्र की ओर से प्रस्तुत राधा-कृष्ण के भजनों को सुन कई श्रोताओं की आंखों से भक्ति की अश्रुधार बह निकली। अवसर था नगर परिषद की ओर से यहां मोहननगर के राजकीय बालिका सीनियर स्कूल में आयोजित एक श्याम बाबा के नाम भजन संध्या कार्यक्रम का। भजनों को सुनने के लिए पूरा पांडाल खचाखच भर गया। कार्यक्रम संयोजक नगर परिषद के सभापति अरविंद जैन ने बताया कि दशहरा मेले के उपलक्ष्य में पहली बार एक शाम श्याम बाबा के नाम भजन संध्या कार्यक्रम का आयोजन कराया गया। कार्यक्रम में विधायक भरोसीलाल जाटव मुख्य रुप से मौजूदरहे। कार्यक्रम में श्यामसखा परिवार की ओर से बाबा श्याम का भव्य दरबार लगाया गया। जिसमें वृंदावन निवासी प्रसिद्ध भजन गायक बाबा चित्र-विचित्र ने भजनों की प्रस्तुति देकर श्रोताओं को भक्ति रस की गंगा में डुबकी लगाने पर मजबूर कर दिया। दीप प्रज्जवलन के साथ भजन गायक चित्र विचित्र ने भजन संध्या शुरू की। इस दौरान चित्र-विचित्र द्वारा गाए गए भजन काली कमली वाला तेरा यार है.., मेरी बिनती यही है राधा रानी कृपा बरसाए रखना, मुझे वृंदावन धाम बसा ले रसिया, मैं हूं नहीं तेरे प्यार के काबिल..तीनों लोगों से न्यारी राधा रानी व ऐ मुरली वाले कन्हैया आदि सुनकर भक्त मंत्रमुग्ध हो गए। भजनों पर श्रद्धालुओं ने नृत्य भी किया। कार्यक्रम में पार्षद सत्यप्रकाश शर्मा, लेखेन्द्र चौधरी, ब्रह्मा बागरेनिया, राजू मदान, मनाेज जाटवमन, मनमोहन, विजेन्द्र जाटव, अमर सिंह, एजाज अहमद, पवन जाटव, इस्लाम, विष्णु गुप्ता, राजू चतुर्वेदी, श्रीकृष्ण चतुर्वेदी, राजू ठेकेदार, जीतेश गर्ग सहित काफी गणमान्य लोग मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।