मंत्री अनिल विज के जनता दरबार में प्रदेश के कोने-कोने से उमड़े फरियादी।
July 22nd, 2023 | Post by :- | 97 Views

अम्बाला:अशोक शर्मा
हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज शनिवार जनता दरबार में पुलिस विभाग के खिलाफ एक्शन मोड में नजर आए। उन्होंने रिटायर्ड सूबेदार मेजर की शिकायत पर घरौंडा के डीएसपी मनोज कुमार को सस्पेंड करने के निर्देश दिए वहीं पानीपत के एक पुलिस कांस्टेबल को भी सस्पेंड करने के निर्देश दिए।

शनिवार अम्बाला में बारिश के बावजूद भी गृह मंत्री अनिल विज के जनता दरबार में हजारों फरियादी अपनी शिकायतें लेकर पहुंचे। बारिश के बीच भी गृह मंत्री अनिल विज का जनता दरबार जारी रहा और विज ने लोगों की शिकायतें सुनी।
जनता दरबार में करनाल से आए रिटायर्ड सूबेदार मेजर ने आरोप लगाया कि उसपर घरौंडा पुलिस द्वारा फर्जी मारपीट एवं अन्य मामले दर्ज किए गए। इसकी शिकायत उसने पूर्व में भी गृह मंत्री अनिल विज से की थी जिसके बाद घरौंडा थाना पुलिस के एक एएसआई और सिपाही को सस्पेंड कर दिया गया था, मगर मुख्य आरोपी पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। गृह मंत्री अनिल विज ने इस मामले में घरौंडा के डीएसपी मनोज कुमार को सस्पेंड करने के निर्देश दिए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।

इसी प्रकार एक अन्य मामले में पानीपत से आई महिला कांस्टेबल ने आरोप लगाया कि उसका पति उसे छोड़कर चला गया है और ससुराल पक्ष द्वारा उसे नहीं रखा जा रहा है। उसने बताया कि उसका पति पुलिस विभाग में सिपाही है और वह बीते एक वर्ष से ड्यूटी पर भी नहीं गया। मंत्री विज ने इस मामले में पुलिस अधिकारियों कांस्टेबल के संबंध में जानकारी मांगी और एक पाया गया कि वह एक वर्ष से फरार है। गृह मंत्री ने कांस्टेबल को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड करने के निर्देश दिए।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान श्री विज ने कहा कि हर माह के दूसरे और चौथे शनिवार को जनता कैंप में वह जनता की समस्याएं सुनते हैं, आज बारिश के बावजूद काफी संख्या में हर क्षेत्र से लोग आए हैं। उन्होंने कहा कि इस बार जो बाढ़ आई वह बड़ी आपदा है, प्रशासन आगे भी इंतजाम कर रहा है और अम्बाला जिले को बाढ़ग्रस्त जिला घोषित कर दिया गया है। जो नुक्सान हुआ है प्रभावित को उसका मुआवजा दिया जाएगा। शहर के लोग नगर परिषद में और गांव के लोग तहसील में अपने नुक्सान के पत्र दे सकते हैं। सरकार ने मुआवजा घोषित कर दिया है। उन्होंने बताया बीमारियों से रोकथाम के लिए टीमें लगातार छिड़काव कर रही है।

जनता दरबार में शनिवार करनाल जिला से कई मामले आए जिसपर गृह मंत्री अनिल विज खफा दिखे और उन्होंने करनाल पुलिस को अपनी कार्यप्रणाली में सुधार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनता की सुनवाई पुलिस को ठीक प्रकार से करनी चाहिए ताकि उन तक मामले न पहुंचे।

वहीं, दरबार में भिवानी से आए व्यक्ति ने उसकी बेटी को एक गैंग द्वारा अगवा करने की शिकायत दी जिसपर मंत्री विज ने भिवानी एसपी को फोन लगाकर मामले में त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए। इसी प्रकार करनाल से आए फरियादी ने पुलिस चौकी में ही दूसरे पक्ष द्वारा उनसे मारपीट के आरोप लगाए जिसपर मंत्री विज ने एसपी करनाल को फोन कर चौकी इंचार्ज के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

रेवाड़ी बार एसोसिएशन से आए वकीलों ने पुलिस के खिलाफ शिकायत देते हुए मंत्री अनिल विज को बताया कि वकील से मारपीट के मामले में पुलिस ने कार्रवाई नहीं की उलटा पुलिस स्टाफ ने ही वकील से मारपीट एवं अभद्रता की। इसपर गृह मंत्री ने रेवाड़ी एसपी को मामजला दर्ज कर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए।

वहीं, पंचकूला निवासी महिला ने उसके बेटे के मलेशिया जेल में फंसे होने की शिकायत दी। महिला ने कहा कि एजेंट के जरिए उसने अपने बेटे को मलेशिया भेजा था और इसके लिए 3 लाख रुपए की राशि दी गई थी। मगर उसके बेटे को मलेशिया पुलिस ने पकड़ जेल में डाल दिया और अब एजेंट उसके बेटे को छुड़वाने के लिए 2 लाख रुपए और मांग रहा है। गृह मंत्री ने इस मामले की जांच कबूतरबाजी मामलों के लिए गठित एसआईटी को सौंपी।

जनता दरबार में कुरुक्षेत्र के शाहबाद से आए व्यक्ति ने उसकी पत्नी के साथ बलात्कार के आरोप लगाए। आरोप था कि पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है और जांच अधिकारी ने कार्रवाई करने के लिए 20 हजार रुपए भी उनसे लिए। गृह मंत्री अनिल विज ने कुरुक्षेत्र एसपी को मामले की जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए।

झज्जर जिले से आए परिवार ने दहेज उत्पीड़न के मामले में वहीं के डीडीपीओ पर पुलिस पर दबाव डालने के आरोप लगाए। परिवार ने कहा कि पुलिस द्वारा अब तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई है। गृह मंत्री अनिल विज ने मामले में एसपी झज्जर को कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए।

जनता दरबार में कैथल से आई महिला ने उसके भाई की हत्या मामले में कोई कार्रवाई नहीं होने के आरोप लगाए। उसका आरोप था कि मामला दर्ज होने एवं आरोपियों के नाम होने के बावजूद पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की जबकि यह मामला दो वर्ष से भी ज्यादा पुराना हो चुक है। गृह मंत्री ने इस मामले में एसपी कैथल को फोन कर एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए।

वहीं हिसार से आई महिला ने एक मंदिर को भू-माफियाओं द्वारा बेचने का प्रयास करने के आरोप लगाए। इसपर भी मंत्री विज ने एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए। जनता दरबार में इसके अलावा अन्य मामले आए जिनपर कार्रवाई के दिशा-निर्देश दिए गए।

इस अवसर पर अम्बाला छावनी के एसडीएम सतेंद्र सिवाच, सभी पुलिस रेंज से डीएसपी, भाजपा नेता सुरेंद्र तिवारी, संजीव सोनी, अनिल कौशल, दीपक भसीन, रवि सहगल, इकबाल ढांडा के अलावा अन्य मौजूद रहे।
जनता दरबार के दौरान पुलिस रोटी बैंक की ओर से दूर-दराज से आए फरियादियों को लंगर भी बांटा गया। लंगर की शुरूआत भाजपा नेता एवं समाज सेवी कपिल विज द्वारा की गई। इस अवसर पर संजीव वालिया एवं अन्य मौजूद रहे।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review