अमलीपदर क्षेत्र ग्राम सिहारलटी के गगन सागर 27 दिनों में 1950 किलोमीटर –सायकल में सफर कर पहुंचा केदारनाथप्रदेश में सुख शांति और खुशहाली की कामना को लेकर गगन ने सायकल से पहुंचा केदारनाथ
July 9th, 2023 | Post by :- | 212 Views

✍️लोकहित एक्सप्रेस न्यूज़ कॉम संवाददाता विक्रम कुमार नागेश की रिपोर्ट गरियाबंद छत्तीसगढ़

गरियाबंद-गरियाबंद जिले के मैनपुर ब्लाक अंतर्गत नवीन तहसील अमलीपदर क्षेत्र ग्राम सिहारलटी के युवक गगन सागर लगातार 27 दिनों तक लगभग 2000 हजार किलोमीटर सायकल से सफर कर केदारनाथ पहुंचे गगन सागर पिछले तीन चार वर्षो से केदारनाथ दर्शन करने जाना चाह रहे थे लेकिन किसी कारण वश नही जा पा रहे थे। गगन सागर घर में बगैर बताये बस से रायपुर पहुंचा और रायपुर में एक सायकल खरीदकर 05 जून से केदारनाथ की सफर की शुरूआत लगातार 27 दिनों तक सायकल चलाकर आखिर अपनी मंजिल केदारनाथ पहुंचकर गगन सागर काफी खुश नजर आ रहे हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।

गगन सागर ने पत्रकार को अपना फोटो उपलब्ध कराते हुए फोन के माध्यम से लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव को बताया कि वह लगातार 27 दिनों तक सायकल में सफर कर केदानाथ के दर्शन करने पहुंचे और दर्शन करने के बाद अब ट्रेन से वापस लौट रहे हैं। उन्होने अपने सफर के बारे में प्रेस वार्तालाप पर लोकहित 24 न्यूज़ एक्सप्रेस लाइव को बताया कि रायपुर से केदारनाथ की सफर शुरू किया बेमेतरा होते हुए मध्यप्रदेश के बाद उत्तरप्रदेश, झांसी ,ग्वालियर और बीच में हरियाणा के बाद फिर उत्तरप्रदेश आया जो कि आगरा होते हुए मैं उत्तराखण्ड ,हरिद्वार, ऋषिकेश, देवप्रयाग, दर्शन करते हुए गौरीकुंड होकर केदारनाथ पहुंचा सफर के दौरान ज़्यादातर समय रात मे रूकने के लिए पेट्रोल पम्प और ढाबा में रूकता था क्योंकि यहां सीसी टीवी होने के कारण मैं सुरक्षित महसूस करता था।

पुरा यात्रा के दौरान सुबह 07 बजे से दोपहर 12 बजे तक साइकलिंग करता फिर थोडा से भोजन करने के बाद विश्राम और फिर सफर करता, सफर के लिए मैने मैप की मदद ली साथ ही रास्तों में जो भी मिलता उससे रास्ता पुछ लेता, यही नही कि मैंने अपने साथ ज्यादा समान भी नही रखा था ताकि मुझे सफर में आसानी होने जरूरी सामग्री में मैने केवल टेंड, कैप, गैस, पंचर कीट, पम्प के साथ डेली निल्डस के समान ही रखा था और पुरे सफर के दौरान हर जगह मुझे अच्छे लोग ही मिले जो मेरा उत्साहवर्धन करते रहे और मुझे सही रास्ता दिखाते,रहे गगन सागर ने प्रेस वार्तालाप पर आगे यह भी बताया कि केदारनाथ पहुंचने के बाद मैने अपना सायकल का नाम चेतक रखा है।

गगन सागर ने प्रेस वार्तालाप पर आगे यह भी बताया कि वह छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले से मैनपुर ब्लाक के नवीन तहसील अमलीपदर क्षेत्र ग्राम पंचायत सिहारलटी, ध्रुर्वागुडी निवासी है और मैं एक बैंक मित्र के रूप में कार्य करता हूं मेरे पिताजी किसान है, इसलिए बैंक मित्र के साथ खेती किसानी का भी कार्य करता हूॅ, उन्होने आगे यह भी बताया कि पुरे परिवार क्षेत्र प्रदेश में सुख समृद्धि और खुशहाली की कामना लेकर मैने सायकल से केदारनाथ पहुंचा जहां दर्शन कर सुख समृध्दि और खुशहाली की कामना किया है, उन्होने कहा कि मेरा इंस्टाग्राम आईडी या युटूब खोलकर देख सकते है गगन की व्लागं के नाम से चलता हूॅ।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review