चालान शाखा में कार्यरत पुलिसकर्मियों द्वारा चालान के करीब 3 करोड़ 24 लाख रुपयों का गबन मामले में एक आरोपी पुलिसकर्मी गिरफ्तार
June 28th, 2023 | Post by :- | 310 Views

होडल, (मधुसूदन भारद्वाज),चालान शाखा में कार्यरत पुलिसकर्मियों द्वारा चालान के रुपयों का गबन के मामले में पुलिस ने एक आरोपी पुलिसकर्मी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपित को अदालत में पेश कर गबन किए गए रुपयों की बरामदगी के लिए 5 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है। मामले जानकारी देते हुए डीएसपी ट्रैफिक संदीप मोर ने बताया कि पुलिस कप्तान लोकेंद्र सिंह के संज्ञान में आया था कि ई चालान में तैनात पुलिसकर्मी पिछले कई वर्षों से सरकारी पैसे को सरकारी बैंक खाते में जमा न करके निजी खर्च में ले रहें हैं। जिसकी जांच कप्तान ने उन्हें सौंपी और जांच के दौरान उन्होंने पाया कि चालान विंडो पर तैनात पुलिसकर्मियों द्वारा ई चालानी राशि की कुल रकम 3 करोड़ 22 लाख 97 हजार 150 रुपये का बैंक की फर्जी स्टेटमेंट एवं मोहर का उपयोग कर गबन किया गया है। इसके अलावा जून माह 2020 में विभिन्न चौकी थानों में ई चालानी मशीन द्वारा काटे गए चालानों की कुल राशि 138500 रुपये बैंक खाते में जमा नहीं कराये गए। इसी प्रकार अक्टूबर माह में 139000 रुपये किसी भी खाते में जमा नहीं कराये गए और न ही पर्चियों का मिलान हो सका जिसके चलते फर्जी चालान पर्ची बनाये जाने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता जिसकी जांच भी जारी है। इस दौरान प्रधान सिपाही जनक की तैनाती ब्रांच में थी। डीएसपी ने बताया की इसके उपरांत उक्त शाखा में ईएचसी ओमबीर की तैनाती के दौरान एक अगस्त 2021 से 31 अगस्त 2021 तक चालानों के माध्यम से विभाग को 14 लाख 76 हजार 200 रुपये प्राप्त हुई जिसमें से कर्मचारियों ने 14500 रूपये कम जमा कराये। इस तरह एक अक्टूबर से 29 अक्टूबर तक चलन शाखा में 1418900 रुपये प्राप्त हुए जिसमें आरोपियों द्वारा बैंक को 1800 रुपये ज्यादा जमा (1420700) कराने पाए गए। उन्होंने बताया की जांच के दौरान प्रधान सिपाही जनक की तैनाती के दौरान कुल 3 करोड़ 22 लाख 97 हजार 150 रुपये सरकारी खाते में जमा नहीं कराये गए जबकि ईएचसी ओमबीर की तैनाती के दौरान 12700 रुपये सरकारी खाते में जमा नहीं कराये गए। डीएसपी मोर ने बताया की उक्त दोनों पुलिसकर्मियों ने नियमों की जानकारी होने के बावजूद अपने पद का दुरूपयोग कर सरकारी पैसा ( कुल ₹32309850) को सरकारी खाते में जमा न करवाकर अपने निजी काम में प्रयोग कर सरकार को आर्थिक नुकसान पहुँचाया है जिसके चलते दोनों पुलिसकर्मी आरोपियों जनक व ओमबीर के खिलाफ आईपीसी एवं भ्रष्टाचार अधिनियम की संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है व मुख्य आरोपी हेड कांस्टेबल जनक को गिरफ्तार कर लिया गया है। डीएसपी पलवल विजय पाल सिंह के नेतृत्व में मामले की जांच अभी जारी है। गिरफ्तार आरोपी को अदालत में पेश कर 5 दिन के रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान गबन की गई राशि की बरामदगी के प्रयास किए जाएंगे तथा मामले में अन्य की संलिप्तता के बारे में गहन पूछताछ की जाएगी। उन्होंने कहा की मामले में जुड़े किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा। मामले में दूसरे आरोपित पुलिसकर्मी ओमबीर के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई जारी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review