(रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने दिया आमजन को झटका) 30 सितंबर तक 2000 के नोट बदलो नहीं तो हो जाएंगे कबाड़
May 20th, 2023 | Post by :- | 163 Views

जयपुर,(सुरेन्द्र कुमार सोनी) । रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने एक बार फिर आमजन को झटका दे दिया है। 2016 में भी आमजन ने पुराने नोट बंद होने पर लाइन में लग लग कर जैसे तैसे अपने पैसे को बचाया था लेकिन इस बार फिर से 2000 के नोट बदलवाने को लेकर 30सितंबर तक की फिक्स डेट भी जारी कर दी है। अब जानने वाली बात यह है कि जो बड़े-बड़े उद्योगपति है जिनकी अरबों रुपये की संपति बैंकों में है वो तो अपने नोट आसानी से बदल सकेगे लेकिन जिनके पास पैतृक संपत्ति के रूप में पैसा है वह अपने नोटों को आखिर किस प्रकार बदलवा पाएंगे क्योंकि बैंक ने यह भी कहा है एक बार में सिर्फ 10 नोट ही बदले जाएंगे। क्या इस बार भी आमजन को इसका बड़ा भारी खामियाजा भुगतना पड़ेगा। सरकार तो किसी भी मामले को लेकर कोई भी आदेश जारी कर देती है लेकिन सरकार यह नहीं सोचती है इसका असली खामियाजा आमजन को ही भुगतना पड़ता है। एक बार में 20 हजार रुपये तक के नोट बदले जाएंगे। अगर आपके पास 2000 के नोट हैं तो 30 सितंबर की तारीख याद कर लें। इससे पहले आप बैंक में जाकर इस बदल सकते हैं। इसके बदले आपको दूसरी वैलिड करेंसी मिल जाएगी। भारतीय रिजर्व बैंक ने एक बार फिर बड़ा फैसला लिया है। RBI ने 2016 के नोटबंदी के बाद जारी 2000 रुपये के नोट को वापस लेने का ऐलान किया है। हालांकि बाजार में मौजूद 2000 नोट फिलहाल चलन में रहेंगे। भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों को सलाह दी है कि वे तत्काल प्रभाव से 2000 रुपये के नोट जारी करना बंद कर दें। आरबीआई ने कहा कि 30 सितंबर तक ये नोट सर्कुलेशन बने रहेंगे। यानी जिनके पास इस समय 2000 रुपये के नोट हैं, उन्हें बैंक से एक्सचेंज करना होगा। आरबीआई ने प्रेस रिलीज में बताया कि 2018-19 में ही दो हजार रुपये का नोट को छापना बंद कर दिया था। साल 2016 नवंबर में नोटबंदी के बाद 2000 हजार रुपये का नोट लाया गया था। नोटबंदी में 500 और 1000 रुपये के नोट बंद कर दिया गया था। एक बार में 20 हजार रुपये तक के नोट बदले जाएंगे। अगर आपके पास 2000 के नोट हैं तो 30 सितंबर की तारीख याद कर लें। इससे पहले आप बैंक में जाकर इस बदल सकते हैं। यानी 30 सितंबर तक आप अपने नजदीकी बैंकों में जाकर 2000 के बदल पाएंगे। इसके बदले आपको दूसरी वैलिड करेंसी मिल जाएंगी। 2016 नवंबर में नोटबंदी में 500 और 1000 रुपये के नोट बंद कर 2000 हजार रुपये के नोट को लाया गया था। नोटबंदी की घोषणा करने के दौरान सरकार ने कहा था कि ये कदम भ्रष्टाचार खत्म करने और छप रहे जाली नोटों पर लगाम लगाने के लिए लिया गया है। इस पर विपक्षी दलों ने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए ये कहा था कि यह निर्णय सरकार ने बिना सोचे समझे लिया है।
*कांग्रेस की जुबानी:
कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधते हुए इसे तुगलकी फरमान बताया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि हमारे स्वयंभू विश्व गुरु की विशेषता है कि पहला करते हैं और फिर दूसरा सोचते हैं। उन्होंने कहा कि 8 नवंबर 2016 को तुगलकी फरमान के बाद इतनी धूमधाम से 2000 रुपये के नोट लाए गए और अब वापस ले रहे हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review