हिमाचल की एतिहासिक बददी मैराथन में जल संरक्षण व पर्यावरण को लेकर 11 हजार लोग दौड़े ।
October 6th, 2019 | Post by :- | 513 Views
  • बीबीएनआईए के 25 साल पूरा होने पर आयोजित किया समारोह ।
  • मैराथन को लेकर न डाईवर्ट किया गया ट्रैफिक न रोका गया, ट्रैक पर थे आवारा पशू ।
  • लोगों को जागरूक करने वाले प्रशासन ने मैराथन में खुद किया प्रयोग किए सिंगल यूज प्लास्टिक ग्लास ।
  • जो भी अव्यवस्थाएं व अनिमितताएं रही हैं उनकी जांच कर, सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी — केसी चमन, जिलाधीश सोलन।

बददी 6 अक्टूबर । राज कश्यप 

हिमाचल प्रदेश के ऐतिहासिक बद्दी मैराथन 2019 का आयोजन बीबएनआईए द्वारा अपनी स्थापना के 25 वर्ष पूरे होने पर रजत जयंती वर्ष में लोगों को जल संरक्षण, प्लास्टिक के उपयोग को रोकने तथा पर्यावरण के प्रति क्षेत्र के लोगों को जागरूक करने के लिए किया गया था इस अवसर पर बीबीएनआईए के अध्यक्ष संजय खुराना ने बताया कि बीबीएनआईए ने अपने अतीत के 25 वर्षों के सफर में क्षेत्र के विकास के अलावा सामाजिक सेवा के विभिन्न क्षेत्रों में अपनी अहम भूमिका अदा की है उन्होंने कहा कि यह वर्ष बीबीएनआईए का रजत जयंती वर्ष है जिसमें उधोग संघ द्वारा सामाजिक सेवा के नियमित कार्यों के अलावा विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

बद्दी मैराथन 2019 के इस आयोजन में विभिन्न आयु के 6 वर्गों में लडक़े लड़कियों एवं महिला पुरुषों ने भाग लिया। लडक़ों के 14 वर्ष से कम आयु वर्ग में अखिलेश ने प्रथम अरविंद ने द्वितीय तथा अरुण ने तृतीय स्थान प्राप्त किया, जबकि लड़कियों में नेहा ने प्रथम यमुना ने द्वितीय तथा रिधम रनोट ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। लडक़ों के 19 वर्ष से कम आयु वर्ग में अमित वर्मा ने प्रथम अनिकेत ने द्वितीय तथा विशाल ने तृतीय स्थान प्राप्त किया जबकि लड़कियों में सलोनी ने प्रथम रूप कमल ने द्वितीय तथा अनीतू ने तृतीय स्थान हासिल किया। लडक़ों के 30 वर्ष से कम आयु वर्ग में दाताराम ने प्रथम शिवम मिश्रा ने द्वितीय तथा कुलदीप ने तृतीय स्थान हासिल किया जबकि लड़कियों में पूजा ने प्रथम मंजू देवी ने द्वितीय तथा रिश्मा देवी ने तृतीय स्थान हासिल किया ।पुरुषों के 45 वर्ष से कम आयु वर्ग में विकास ने प्रथम रवि कुमार ने द्वितीय तथा राजकुमार ने तृतीय स्थान प्राप्त किया जबकि महिलाओं में रशमी राठी ने प्रथम संध्या ने द्वितीय तथा अनीता ने तृतीय स्थान हासिल किया। पुरुषों के 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में विजेंद्र ने प्रथम बिंदर ने द्वितीय तथा वीके शर्मा ने तृतीय स्थान हासिल किया जबकि महिलाओं में चमन कौर ने प्रथम सुरेंद्र कौर ने द्वितीय तथा वंदना ने तृतीय स्थान हासिल किया। इस मैराथन प्रतियोगिता में 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के पुरुषों में सुखदेव सिंह तथा राम आसरा को तथा महिलाओं में मनजीत कौर तथा हरजीत कौर को सांत्वना पुरस्कार देकर कार्यक्रम में सम्मानित किया गया।

सभी आयु वर्ग के लडक़े लड़कियों तथा महिला पुरुषों को प्रथम पुरस्कार के रूप में साइकल वित्तीय पुरस्कार के रूप में ट्रेवलिंग बैग तथा तृतीय पुरस्कार के रूप में योगा मैट देकर सम्मानित किया गया जबकि सांत्वना पुरस्कार के रूप में सभी को ट्रेवलिंग बैग देकर सम्मानित किया गया।

बहुत सारी कमियाँ भी आई सामने:-

लोगों को जागरूक करने वाले प्रशासन ने मैराथन में खुद किया प्रयोग किए सिंगल यूज प्लास्टिक ग्लास

बीबीएनआई, प्रशासन और एडवेंचर सोसाईटी द्वारा जल संरक्षण और प्लास्टिक यूज को लेकर आयोजित मैराथन में खुद ही आयोजक पेयजल के लिए गिलासों की व्यवस्था नहीं कर सके। जिसके चलते धावकों को प्लास्टिक व सिंगल यूज गिलासों में पानी पीने को मजबूर होना पड़ा। यहां सवाल यह भी उठता है कि अगर मैरॉथन सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए आयोजित की गई थी तो आयोजकों ने खुद क्यों इवेंट में सिंगल यूज और प्लास्टिक के गिलासों का इस्तेमाल किया।

मैराथन को लेकर न डाईवर्ट किया गया ट्रैफिक न रोका गया, ट्रैक पर थे आवारा पशू ।

बीबीएनआई, प्रशासन और एडवेंचर सोसाईटी द्वारा आयोजित मैरॉथन को लेकर न तो ट्रैफिक डाईवर्ट किया गया और न ही ट्रैफिक को रोका गया। जिसके चलते मैरॉथन में भाग लेने वाली सभी आयु वर्ग के प्रतिभागियों को वाहनों की रेलम-पेल के बीच दौडऩे को मजबूर होना पड़ा। कई छोटे बच्चे, छात्र-छात्राएं व महिलाएं वाहनों के आगे जान जोखिम में डालकर दौड़ती दिखीं। हैरानी तो इस बात की है कि 10 किलोमीटर लंबे इस मैरॉथन ट्रैक से आवारा पशु तक हटाए नहीं गए। सड़कों पर पशुओं की भरमार होने के चलते छोटे बच्चों, छात्राओं और महिलाओं को परेशानियों का सामना करना पड़ा। कई धावक तो पशुओं की चपेट में आने से बाल बाल बचे।

अगर मैरॉथन में सिंग्ल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल हुआ है तो वह बिल्कुल गल्त है। इसकी जांच की जाएगी और कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। मैरॉथन के लिए टै्रफिक को क्यों नहीं रोका गया, इसकी जांच के आदेश दिए जाएंगे। जो भी अव्यवस्थाएं व अनिमितताएं रही हैं उनकी जांच कर, सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

— केसी चमन, जिलाधीश सोलन।

इस मैराथनके उपलक्ष्य पर बीबीएनआईए के अध्यक्ष संजय खुराना, मुकेश जैन, दिनेश जैन, अजय चौधरी कोषाध्यक्ष, उपाध्यक्ष संदीप वर्मा, अनुराग पुरी, संयुक्त सचिव अक्षिता गुप्ता, राजीव सत्या, शैलेष अग्रवाल, एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देष्टा, बीबीएनडीए से अधिकारी सुधीर शर्मा, तहसीलदार नालागढ़ रिषभ शर्मा, बददी तहसीलदार मुकेश शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एन के शर्मा, रोटरी क्लब के अध्यक्ष सतीश कौशल, विपिन गुप्ता, अतुल, राजेश बंसल, प्रेस क्लब के कोषाध्यक्ष सचिन बैंसल, राजेश वर्मा विभिन्न विद्यालयों के छात्र छात्राएं व अध्यापक गण, सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता तथा बड़ी संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।