बहल के बीआरसीएम पब्लिक स्कूल ज्ञानकुंज में हुआ एलुमनी सम्मेलन का आयोजन।
October 5th, 2019 | Post by :- | 826 Views

बहल, (शकील अहमद, सवांददाता)
बहल क़स्बे के बीआरसीएम पब्लिक स्कूल ज्ञानकुंज में चतुर्थ एलुमनी सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस सम्मेलन का प्रारम्भ संस्था के चेयरमैन हरिकृष्ण चौधरी एवं बीआरसीएम एजुकेशन सोसायटी के निदेशक डॉ. एस. के. सिन्हा, कैप्टन पुनीत रांगी, डॉ. धर्मेन्द्र शर्मा, डॉ. सुनील व नागेन्द्र लाम्बा द्वारा माँ सरस्वती के समक्ष द्वीप प्रज्ज्वलित कर किया।

बीआरसीएम शिक्षण समिति के चेयरमैन हरिकृष्ण चौधरी ने एलुमनी छात्रो को सम्बोधित करते हुए कहा की हमारा उद्देश्य इस क्षेत्र के छात्रों को गुणवत्ता पूर्वक शिक्षा देकर उनके भविष्य को उज्जवल बनाना है और हम सदैव इसके लिए प्रयासरत्त रहेंगे। हमारी संस्था से उतीर्ण छात्र देश की उच्च संस्थानों में कार्यरत है जो की हमारे लिए यह एक गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि अगर विद्यार्थियों को समय पर अवसर दिया जाए तो देश – विदेश में अपना नाम रोशन कर सकते हैं।

इस सम्मेलन में बीआरसीएम के लगभग 100 एलुमनी विद्यार्थियो ने हिस्सा लिया। जिसमे डॉ. धर्मेन्द्र शर्मा, डॉ. सुनील, नागेन्द्र लाम्बा, एलएलबी, एलएलएम, कैप्टन पुनीत रांगी, सुरेन्द्र श्योराण, पूनम रांगी, निशांत, सुनील भालोठिया, बीट्स पिलानी आदि ने सभी को सम्बोधित किया और सीए व वायुसेना आदि में रोजगार सम्बंधित मार्गदर्शन किया।
सीए अशोक सिंघल ने वाटसअप मैसेज द्वारा सभी एलुमनी विद्यार्थियों को सम्बोधित किया।

कैप्टन पुनीत रांगी ने बच्चों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमे अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करते हुए अपने पथ पर अग्रसर रहना चाहिए। जिससे हम अपने सपने को साकार कर सकते है। डॉ. धर्मेन्द्र ने अपने स्कूली जीवन के बिताए हुए याद करते हुए बच्चों मेडिकल से सम्बंधित टिप्स भी दिए है। पूर्व छात्र नागेन्द्र लाम्बा ने छात्रों को लॉ के बारे में और लॉ से सम्बंधित विभिन्न सेवाओ के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि प्राइमरी अध्यापक ही एक अच्छे विद्यार्थी की नीव तैयार करते है।

ज्ञानकुंज के प्रधानाध्यापक राजेश झाझडिया ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा की इस तरह के कार्यक्रमों से विद्यार्थियों कों अपने अध्यापको से मिलने का अवसर प्राप्त होता है व उनको अपने विद्यालय में अपने विचारो को रखने को मौका मिलता है। मुख्य समंवयक संदीप टंडन ने पुराने विद्यार्थियों को अपने लक्ष्य व अपने माता – पिता के आदर करने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम का मंच संचालन प्रिया और तुषार ने किया।

इस अवसर पर एलुमनी विद्यार्थियों के लिए विभिन्न खेलों का आयोजन किया गया । जिसका एलुमनी छात्रों ने भरपूर आनंद उठाया। कार्यक्रम में रैम्पवॉक, दोस्ताना, म्युजिकल चैयर, रिंग थ्रो, रस्साकस्सी आदि खेलों ने रोनक बनाए रखी।
प्रधानाध्यापक राजेश झाझडिया संरक्षक और भीम सिंह पूनियां को शिक्षक प्रतिनिधि घोषित किया गया। बारहवीं कक्षा की छात्रा नितिका जांगड़ा को छात्र समंवयक और ग्यारहवीं कक्षा की छात्रा गरिमा मितल को उप-समंवयक घोषित किया गया। मिस एलुमनी पूनम रांगी और मास्टर पूनित रांगी को मिस्टर एलुमनी के ताज से नवाजा गया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।