54वीं हरियाणा राज्य फुटबाल प्रतियोगिता में गुरुकुल के खिलाडि़यों ने रचा इतिहास अंडर-19 फुटबाल में पहली बार गुरुकुल कुरुक्षेत्र की टीम रही अव्वल
October 5th, 2019 | Post by :- | 236 Views

चंडीगढ़, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )    ।    गुरुकुल कुरुक्षेत्र के खिलाडि़यों ने अपनी उत्कृष्ट प्रतिभा के दम पर कुरुक्षेत्र जिला को पहली बार प्रदेश स्तरीय फुटबाल प्रतियोगिता का सिरमौर बनाते हुए इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज करवाया है। यह पहला मौका है जब अंडर-19 राज्य स्तरीय फुटबाल प्रतियोगिता में जिला कुरुक्षेत्र को यह गौरव हासिल हुआ है। टीम की इस उपलब्धि पर गुरुकुल के प्रधान कुलवन्त सिंह सैनी, निदेशक व प्राचार्य कर्नल अरुण दत्ता, सह प्राचार्य शमशेर सिंह, मुख्य संरक्षक संजीव आर्य ने टीम कोच जतिन आर्य व कैप्टन अमित आर्य को बधाई दी। वहीं गुरुकुल के संरक्षक एवं गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत जी ने भी फोन पर सभी खिलाडि़यांे को बधाई देकर हौसला बढ़ाया।

गुरुकुल के फुटबाल कोच जतिन आर्य ने बताया कि खेल विभाग द्वारा 54वीं हरियाणा फुटबाल प्रतियोगिता का आयोजन 3 से 5 अक्तूबर 2019 तक गुरुकुल के खेल मैदान में किया गया। प्रतियोगिता में पूरे प्रदेश की अंडर-19 आयुवर्ग की 20 टीमों ने भाग लिया जिसमें जिला कुरुक्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रही गुरुकुल कुरुक्षेत्र की टीम अव्वल रही। गुरुकुल की टीम का पहला मैच करनाल के साथ हुआ जिसमें गुरुकुल की टीम ने करनाल को 2-0 से हराया। दूसरा मैच भिवानी को 1-0 से और तीसरा मैच रोहतक को 2-1 से हराते हुए फाइनल में जगह बनायी। फाइनल मैच, आज कुरुक्षेत्र और फतेहाबाद के बीच हुआ जिसे गुरुकुल की टीम ने 2-1 से जीतकर टूर्नामेंट अपने नाम की। जिला खेल अधिकारी श्रीपाल बंसल ने अव्वल रही गुरुकुल की टीम को ट्राफी देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर खेल विभाग के अधिकारी मनोज, सचिन जसबीर, अनिल उपस्थित रहे।

गुरुकुल के प्रधान कुलवन्त सिंह सैनी ने इतिहास रचने वाली फुटबाल टीम के कोच जतिन आर्य को विशेष रूप से बधाई देते हुए सभी खिलाडि़यों को मिष्ठान्न खिलाया। उन्होंने कहा कि यह कोच और टीम के खिलाडि़यों के कठोर परिश्रम का ही परिणाम है जो गुरुकुल के खिलाड़ी सफलता के नये कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी गुरुकुल के खिलाड़ी विभिन्न खेलों में जिला, प्रदेश व राष्ट्रीय स्तर पर गुरुकुल का नाम रोशन कर चुके हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।