छात्रों ने उन्हें आश्वासन दिया कि हम सभी हर संभव प्रयास करेंगे कि प्लास्टिक ,थर्माकोल , डिस्पोजेबल आदि से बनी वस्तुओं का इस्तेमाल ना करें 
October 5th, 2019 | Post by :- | 77 Views

अम्बाला, अशोक शर्मा :

पीकेआर जैन पब्लिक स्कूल में गांधी जी की 150वीं जन्म जयंती पर एक बार इस्तेमाल कर के फेंक दी जाने वाली पन्निया ,बोतलें व अन्य प्लास्टिक के सामान का बहिष्कार करने का आह्वान किया गया। इसके लिए छात्रों ने जन जागृति हेतु  एक रैली निकाली  जिसमें कक्षा नवीं व दसवीं के छात्रों अत्यंत आकर्षक एवं मनमोहक पोस्टरों द्वारा इस बात का ऐलान किया कि आज की युवा पीढ़ी इस प्लास्टिक का बहिष्कार करती है और भविष्य को बचाने का हर संभव प्रयास करती है । “स्वच्छता ही सेवा “रैली में एनएसएस वॉलिंटियर्स के साथ विद्यालय के अन्य छात्रों ने  अंबाला शहर के गैलेक्सी मॉल के आसपास व पार्क में बिखरे प्लास्टिक के टुकड़ों एवं  पन्नियों को साफ किया तथा अपने नारों द्वारा एवं सफाई अभियान द्वारा आम जनता तक इस संदेश को पहुंचाने का प्रयास किया  कि आज की युवा पीढ़ी ने भारतवर्ष को स्वच्छ, स्वस्थ व सुंदर बनाने के लिए कमर कस ली है।
 प्रधानाचार्या श्रीमती नीरू शर्मा ने छात्रों  को प्लास्टिक के इस्तेमाल से होने वाले नुकसान से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि यह प्लास्टिक  ,थर्माकोल ,डिस्पोजेबल वस्तुएं  ना तो नष्ट होती है ,ना ही रिसाइकिल होती है ।धीरे धीरे इसके माइक्रोएलिमेंट्स हमारे भोजन में शामिल होने आरंभ हो जाते हैं ,जो हमारे शरीर में बहुत नुकसान पैदा करते हैं ।छात्रों ने उन्हें आश्वासन दिया कि हम सभी हर संभव प्रयास करेंगे कि प्लास्टिक ,थर्माकोल , डिस्पोजेबल आदि से बनी वस्तुओं का इस्तेमाल ना करें
विद्यालय के प्रधान श्री धर्मपाल जैन, उप प्रधान प्रोफेसर अशोक जैन, सचिव श्री अशोक जैन ,मैनेजर श्री गौरव जैन, कोषाध्यक्ष श्री हर्ष जैन, सह सचिव श्री वरुण जैन सभी ने छात्रों के इस प्रयास की भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए कहा कि  यह अभी आरंभ है अभी बहुत लंबा रास्ता तय करना है और उम्मीद करते हैं  कि  आज की युवा पीढ़ी इसी दृढ़ता और विश्वास के साथ जुटे रहेगी औरआशा करते हैं कि भविष्य में  औरों को भी इसी तरह जागृत करते रहेंगे। अपने देश के पर्यावरण एवं वातावरण को स्वच्छ व निर्मल बनाने में भरपूर सहयोग देंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।