विधानसभा चुनावः हरियाणा में अब तक 130 गैर-लाइसेंसी हथियार जब्त
October 4th, 2019 | Post by :- | 159 Views

चंडीगढ़, ( महिन्द्र पाल सिंहमार ) ।     हरियाणा मे सुचारू एवं शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित करने के लिए पुलिस द्वारा विधानसभा आम चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू के बाद से अब तक 130 गैर-लाइसेंसी हथियार और 110 कारतूस जब्त किए जा चुके हैं।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) श्री नवदीप सिंह विर्क ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि कहा कि लाइसेंसी हथियारधारको ने भी चुनाव से पहले अपने हथियार पुलिस के पास जमा कराने शुरू कर दिए हंै। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, 3 अक्टूबर, 2019 तक विभिन्न पुलिस थानों में कुल 1,10,901 लाइसेंसी हथियार जमा किए गए हैं। इसके अतिरिक्त, इस संबंध में चुनाव आयोग के निर्देशों की उल्लंघना करने पर 11 हथियारों के लाइसेंस रद्द व 1 हथियार जब्त किया गया है।

श्री विर्क ने कहा कि पुलिस महानिदेशक श्री मनोज यादव द्वारा मतदान को लेकर जिला पुलिस प्रमुखों के साथ लगातार सुख्क्षा व्यवस्था की समीक्षा की जा रही है। पुलिस द्वारा निष्पक्ष व शांतिपूर्ण चुनाव के लिए सभी आवष्यक कदम उठाए जा रहे हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की 120 कंपनियों को मतदान से पहले और बाद में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करने के लिए हरियाणा में तैनात किया गया है। मतदाताओं के बीच विश्वास व सुरक्षा की भावना बनाए रखने के लिए, पुलिस और केंद्रीय बलों ने प्रदेष विशेषकर संवेदनशील इलाकों में फ्लैग मार्च करना शुरू कर दिया है। सुरक्षा बलों ने ‘संवेदनशील‘ और ‘अतिसंवेदनशील‘ पहचाने गए मतदान केंद्रों के आसपास भी सतर्कता बढ़ा दी है। उन्होंने कहा कि जो भी मतदान प्रक्रिया को बाधित कर कर कानून व्यवस्था को खराब करने की कोशिश करेगा उसके खिलाफ कडी कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने जनता से आगामी चुनाव में उत्साहपूर्वक व भयमुक्त होकर मताधिकार का प्रयोग करने का आग्रह करते हुए कहा कि हरियाणा पुलिस द्वारा प्रदेष में 21 अक्टूबर को होने वाले मतदान के मद्देनजर स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव सम्पन्न करवाने के लिए पुख्ता प्रबंध किए गए हैंै।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।