पंजाब में वोटों की खातिर भाजपा ने आंतकवाद के हाथों मारे गऐ हिंदुओं की लाशों से किया सौदा-भूपिन्द्र मेहरा
October 3rd, 2019 | Post by :- | 168 Views

 

गगन ललगोत्रा (व्यूरो कांगड़ा)

आंतकवाद के मुद्दे पर भाजपा का दोगला चेहरा आया सामने

  • पंजाब में वोटों की खातिर भाजपा ने आंतकवाद के हाथों मारे गऐ हिंदुओं की लाशों से किया सौदा-भूपिन्द्र मेहरा

धर्मशाला में आयोजित प्रधानमंत्री की इनवेस्टर मीट में शिव सेना हिन्दुस्तान दिखाऐगी काले झंडे

शिवसेना हिन्दुस्तान पार्टी के वर्तमान हिमाचल प्रदेश संयोजक व पूर्व राज्य उप प्रमुख भूपिन्द्र मेहरा ने कहा कि भूतपूर्व मुख्यमंत्री पंजाब सरदार बेअंत सिंह के हत्यारे बलवंत सिंह राजोआना की फांसी की सजा उम्र कैद में बदलने वाली भाजपा की केंद्र सरकार ने आंतकवाद के हाथों मारें गऐ र्निदोष हिन्दुओं की लाशों के साथ वोट बैंक के लिऐ सौदा किया है । जिसका शिव सेना हिन्दोस्तान पूरजोर विरोध करती है । उन्होने कहा कि अगर सरकार ने अपने इस फसले को नही बदला तो शिव सेना हिन्दोस्तान जगह जगह विरोध प्रदर्श करेगी । भूपिन्द्र मेहरा ने कहा कि आंतकवाद के मुद्दे पर भाजपा ने दोगलापन दिखाया है । मेहरा ने भाजपा पर कड़ा प्रहार करते हुऐ कहा कि भाजपा की सत्ता की भूख देश को बर्बादी की तरफ ले जा रही है । उन्होने कहा कि आज देश बूरे दौर से गुजर रहा है । भूप्रिन्द्र मेहरा ने कहा कि सरकार अपने दूसरे कार्यकाल तक 35000 आतंकवाद पीडितों को पंजाब में न्याय नहीं दे सके ओर 781 करोड का पारित मुआवजा नहीं दे सके। वह खालिस्तानी आतंकवादियों को न्याय देने का ऐलान कर रहे हैं। श्री नरेंद्र मोदी यूएनओ, अमेरिका में, आतंकवाद के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात कर रहे हैं और पंजाब में वोटों की खातिर 35000 आतंकवाद पीडित हिंदुओं के आंसू को नजरअंदाज करके उनके कातिल को बढ़ावा देते हुए उसकी फांसी की सजा उम्रकैद में बदलने का ढोंग रच रहे हैं। अगर यह सब वोटों की खातिर है तो भाजपा और कांग्रेस में क्या अंतर है । शिव सेना हिंदुस्तान इसका कड़ा विरोध करती है। पंजाब में भाजपा का क्या स्टैंड होगा ,क्या सरकार हिंदुओं का साथ देती है या भाजपा के नेताओं की हत्या करने वाले खालिस्तानी आतंकवादियों का साथ देती है । यह दोगला चरित्र देखना भी बाकी है । भूपिन्द्र मेहरा ने दुखी हृदय से कहा कि पंजाब में आतंकवादियों के हाथों शहीद हुए हिन्दु लोगों ं की आत्मा इस फैसले से तडफ उठी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।