रमेश दलाल के नेतृत्व में किसान न्याय यात्रा पूरे हरियाणा के किसानों की आवाज कर रही बुलंद
August 21st, 2019 | Post by :- | 125 Views
बहादुरगढ़ लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ (गौरव शर्मा)
किसान न्याय यात्रा की अनदेखी सरकार को पड़ेगी भारी: रमेश दलाल

हरियाणा स्वाभिमान आंदोलन के बैनर तले निकाली जा रही किसान न्याय यात्रा दूसरे दिन सुबह झज्जर ज़िले से सोनीपत ज़िले मे दाखिल हुई तथा देर शाम जींद ज़िले में पहुंची। गौरतलब है कि बहादुरगढ़ ब्लॉक की आर जोन घोषणा,  राष्ट्रीय राजमार्ग 152डी, 352ऐ आदि के निर्माण में ज़मीन अधिग्रहण के उचित मुआवज़े, फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी, एस.वाई.एल नहर का पानी आदि मांगो को लेकर किसान लम्बे समय से किसान नेता रमेश दलाल के नेतृत्व में  संघर्ष कर रहे है। ऐसे में सरकार से कोई सकारात्मक जवाब ना मिलने के कारण किसानों ने रमेश दलाल की अगुवाई में मंगलवार से  किसान न्याय यात्रा की छोटूराम स्मारक स्थल, सांपला से शुरुआत कर दी।

हरियाणा सरकार के ऊपर तानाशाही रवैये का आरोप लगाते हुए किसान नेता रमेश दलाल ने कहा कि हरियाणा में विपक्ष शून्य हो जाने के कारण सरकार बेलगाम हो गई है तथा किसानों की जायज़ मांगो को भी नज़रअंदाज़ कर रही है। ऐसी स्थिति में किसान विपक्ष की भूमिका निभाने के लिए सड़को पर उतर आए है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की जन आशीर्वाद यात्रा के जवाब में किसानों ने किसान न्याय यात्रा की शुरुआत कर प्रदेश की राजनीति में एक बड़ा कदम उठाया है। किसान यात्रा को मिल रहे समर्थन से स्पष्ट है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में किसानों की मांगों की अनदेखी प्रदेश की भाजपा सरकार पर भारी पड़ सकती है। रमेश दलाल का कहना है कि यात्रा की समाप्ति तक अगर सरकार ने किसानो की मांगो को नहीं माना तो यात्रा के बाद आंदोलन में कोई बड़ा कदम उठाया जाएगा, जिसकी रणनीति पर काम शुरू कर दिया गया है।

यात्रा के पहले दिन झज्जर ज़िले के दलाल, अहलावत, कादियान, राठी इत्यादि खापों के गांव से गुजरते हुए रात को जसौर खेड़ी गांव में रुकी थी। देर रात पहुँचने के बावजूद जसौर खेड़ी गाँव में बड़ी संख्या में ग्रामीण यात्रा का स्वागत करने के लिए पहुंचे। यात्रा के लिये रात्रि भोजन की व्यवस्था जसौर खेड़ी गाँव की तरफ से की गई थी। बुधवार सुबह यात्रा जसौर खेड़ी से शुरू हो कर निलौठी पहुंची जहाँ पर किसान यात्रा का ज़ोरदार स्वागत किया गया। किसान यात्रा सोनीपत ज़िले के विभिन्न गाँवों से गुज़रती हुई  रात्रि विश्राम के लिए जींद ज़िले के खरकरामजी गांव में पहुंची तथा वही से यात्रा गुरुवार को जींद जिले के विभिन्न गाँवों से गुज़रते हुए पेहोवा, कुरुक्षेत्र पहुंचेगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।