फसल बेचने में किसान को किसी भी प्रकार की दिक्कत नही आने दी जाएगी किसान अपनी फसलों को सुखाकर मंडियों में लाएं किसानों की फसलों को निर्धारित किए गए न्यूनतम समर्थन मूल्य में खरीदना सभी एजैंसी सुनिश्चित करे:पीके दास
October 1st, 2019 | Post by :- | 82 Views
फसल बेचने में किसान को किसी भी प्रकार की दिक्कत नही आने दी जाएगी किसान अपनी फसलों को सुखाकर मंडियों में लाएं किसानों की फसलों को निर्धारित किए गए न्यूनतम समर्थन मूल्य में खरीदना सभी एजैंसी सुनिश्चित करे:पीके दास
कैथललोकहित एक्सप्रैस, ( ब्यूरो चीफ विशाल चौधरी ) ।फसल बेचने में किसान को किसी भी प्रकार की दिक्कत नही आने दी जाएगी। हरियाणा सरकार के  अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने कहा कि  सभी किसान अपनी फसलों को सुखाकर मंडियों में लाएं। किसानों की फसलों को निर्धारित किए गए न्यूनतम समर्थन मूल्य में खरीदना सभी एजैंसी सुनिश्चित करें। इस कार्य में किसी भी प्रकार की कोताही नही होनी चाहिए। किसानों को उनकी फसल का दाम भी समयबद्ध दिया जाए।
अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास अनाज मंडी में दौरा करने के दौरान अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे। इससे पहले एसीएस ने किसानों व आढ़तियों की समस्याओं को सुना और उनके समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। इस मौके पर उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी भी मौजूद रही। अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने कहा कि किसानों की सुविधा के लिए गेट पास के संदर्भ में निर्देश दिए कि आवक अधिक होने की स्थिति में निर्धारित प्रोफार्मा आढ़तियों के पास रखा जाए, जिसे भरकर वे मार्किट कमेटियों के अधिकारियों व कर्मचारियों को देंगे, उसका इंद्राज मार्किट कमेटी कार्यालय में किया जाए, जिससे गेट पर लगने वाले जाम से राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि मंडी में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए। शौचालयों की नियमित सफाई करवाई जाए। इसके साथ-साथ पेयजल की भी समूचित व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने निर्देश दिए कि मंडी परिसर में दो-तीन स्थानों पर शामियानों व कुर्सियों की व्यवस्था की जाए, ताकि गांव से आने वाले किसान उन स्थान पर आराम से बैठ सकें। किसानों की फसल की एवज में दिए जाने वाले भुगतान की जानकारी चस्पा की जाए और साथ ही मुनियादी के माध्यम से भी अवगत करवाया जाए कि कितने नंबर तक के किसानों की फसल का भुगतान किया जा चुका है।
उन्होंने कहा कि मंडी से बाहर अगर कोई फसल की ढेरी है तो उस पर भी नंबर लगाया जाए। सभी आढ़ती सुनिश्चित करें कि बरसात के मद्देनजर किसान की फसल के नीचे व ऊपर तिरपाल की समूचित व्यवस्था होनी चाहिए। किसान के फसल बेचने के कार्य को ज्यादा से ज्यादा दो दिन में संपन्न करवाया जाए और तीसरे दिन फसल का उठान संबंधित एजैंसी द्वारा किया जाए। किसान की समस्याओं को सुनने के लिए मार्किट कमेटी कार्यालय में 12 बजकर 30 मिनट पर तथा दोपहर बाद 3 बजे एक समिति बैठेगी, जो किसानों की नमी से संबंधित व अन्य समस्याओं का निवारण करेगी। आढ़तियों के पास पंखे व मजदूरों की पूरी व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मिलर्स जिस स्थान पर फसल को रखते हैं, उस जगह की नियमित जांच हो और जीओ टैगिंग भी करवाई जाए, ताकि किसी भी प्रकार की धांधली सामने न आए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी आढ़तियों से किसानों को दिए जाने वाले भुगतान की पूरी डिटेल लें। उन्होंने कहा कि मंडी के सभी गेटों पर चौकीदार की व्यवस्था करवाई जाए, ताकि आवारा पशु मंडी परिसर के अंदर नही आए। इस मौके पर किसानों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि वे अपनी फसल को पूरी तरह सुखाकर मंडी में लाएं। फसल लाते समय किसान आधार कार्ड की प्रति भी अपने साथ लाएं, ताकि उनकी फसल जल्द बिके और पूरा कार्य संपन्न हो सके।
अतिरिक्त मुख्य सचिव ने आढ़तियों व किसानों की समस्या सुनते हुए कहा कि मंडी परिसर के आसपास की सड़कों को जल्द दुरूस्त करवाया जाएगा। भविष्य में फसल खरीद के कार्य को और अधिक समुचित करने हेतू मार्किट कमेटी के अधिकारियों व कर्मचारियों को टैबलेट देने की व्यवस्था की जाएगी, ताकि किसानों को और अधिक सुविधा मिल सके। किसान की फसल की नमी को नमी मापक यंत्र के माध्यम से मापा जाएगा। इस मौके पर उन्होंने एफसीआई एजैंसी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अतिरिक्त मंडी में रखे गेहूं की कट्टïों को तुरंत उठवाना सुनिश्चित करें, ताकि जरूरत पडऩे पर किसान उस स्थान पर भी अपनी फसल को बेचने के लिए ला सके।
उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी अतिरिक्त मुख्य सचिव को बताया कि जिला में सभी 110 मिलर्स के स्थानों को पहले चैक करवाया गया है और निरंतर फसल रखते समय भी चैक करवाया जाएगा। बारदाने की पूरी व्यवस्था है। मंडी में किसानों व आढ़तियों की सुविधा का विशेष ध्यान रखा जा रहा है, जो भी आढ़तियों व किसानों ने समस्याएं बताई हैं, उनका निवारण भी जल्द करवा दिया जाएगा। इस मौके पर खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक विरेंद्र सिंह, मार्किट कमेटी सचिव दलेल सिंंह, देवेंद्र सिंह, मंडी प्रधान कृष्ण मित्तल, अश्वनी शौरेवाला के अलावा अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।