बारिश ने मचाई तबाही, कहीं रास्ते बन्द,कितनों के उजड़े आशियाने
September 30th, 2019 | Post by :- | 147 Views

आजमगढ़,(अखिलेश कुमार बिन्द)। पिछले चार दिनों से लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। झमाझम बारिश से सड़कों पर पानी भर गया। इसके साथ ही कई सरकारी कार्यालयों में भी पानी घुस गया। सुबह-सुबह लोगों के घरों में पानी घुसने से उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा।

फूलपुर के सुदनीपुर, सहजेरपुर, सेखबलिया, झकहा, दसमढ़ा, इटकोहिया व गरेडिया का पूरा, पूरादुलार, कनेरी जगदीशपुर, खोजापुर व बक्सपुर सहित दर्जनों गांव में जलनिकासी की व्यवस्था ठीक न होने के कारण जलजमाव हो गया है। इसकी वजह से कई जगहों पर लोगों ने सड़क व मार्ग को काट दिया।

रानी की सराय के खैरा अनुसूचित बस्ती के लोग गांव को पानी से बचाने के लिए खैरा से खैरपुर लिक मार्ग को काट दिया। सम्मोपुर के एक हिस्से में पानी घिरने से ऊजीगोदाम मार्ग को जमालपुर हाईवे ओवरब्रिज के पास काट दिया गया। विद्युत व्यवस्था भी पूरी तरह ध्वस्त हो गई है। तरवां : तहसील मुख्यालय लालगंज से लोगों का संपर्क टूट गया है। जल निकासी के लिए ग्रामीणों ने तरवां-लालगंज मुख्य मार्ग को डुभांव गांव के समीप पोखरे के पास सड़क को लगभग तीन फीट चौड़ा काट दिया। मौलानीपुर में श्यामलाल, संतलाल फूलचंद, राम रामशरण प्रजापति, अनिल राजभर के मकान गिर गए। डुभांव गांव निवासी सीरी राजभर, लछीराम राजभर व खुर्शीद का कच्चा मकान जमींदोज हो गया।
बिलरियागंज के केशवपुर गांव में रविवार की सुबह परमानंद दूबे का कच्चा मकान गिर गया। इसमें बंधे दस मवेशी दब गए। मौके पर पहुंची पुलिस ग्रामीणों की मदद से बाहर निकलवाया। इसमें एक गाय की मौत हो गई। बिलरियागंज क्षेत्र के बड़िहारी ग्रामसभा के लौटू प्रजापति का कच्चा मकान गिर जाने से एक मवेशी की दबकर मौत हो गई।
मार्टीनगंज के भादों गांव में बारिश के चलते दाउद का घर गिर गया। जमालुद्दीन पुत्र अब्दुल का भी मकान गिर गया। मलबे में जमालुद्दीन (65) दबकर घायल हो गए। ग्रामीणों ने उन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मार्टीनगंज में भर्ती कराया। अब्दुल व अनिल का भी मकान गिरकर ध्वस्त हो गया।
अहरौला के शनिवार की रात विनय पांडेय, दुखहरण, सुदामा व अवनीश का कच्चा मकान धराशायी हो गया। इस घटना में दो मवेशियों की दबकर मौत हो गई जबकि आधा दर्जन लोग घायल हो गए। सरायमीर, पवई लाडपुर में रविवार को सुबह कच्चा मकान गिरने से जियालाल की भैंस दब कर मर गई। खानपुर गांव में सूबेदार, प्रदीप, श्रीराम, हरीराम, नैनू लाल, शेखर राव, दीपक चौधरी, मिट्ठू लाल, मिश्रीलाल, जयनाथ यादव, लल्लू राव व तारा पाठक आदि के कच्चे मकान गिर गए हैं। सुरही बुजुर्ग गांव में संता चौहान, पंजाबी, पद्मावती का कच्चा मकान गिर गया है। सिकरौर सहबरी बाजार में मंदिर के पास फेकू चौरसिया व सीताराम का कच्चा मकान गिर गया। जलनिकासी के लिए गांव वासियों ने फूलपुर-मार्टीनगंज मुख्य मार्ग को काट दिया। भोरमऊ से भटिनपारा गांव के पिच मार्ग को काट दिया गया है। रामलीला समिति सरायमीर के मैदान में पानी लगा हुआ है। किसी प्रकार रथ निकाल कर लोग राम जानकी मंदिर ठाकुरद्वारा ले गए।
मेंहनाजपुर पावर हाउस विद्युत उपकेंद्र पूर्ण से जलमग्न हो गया है। विद्युत आपूर्ति भंग हो गई है। माहुल: वार्ड नंबर चार के हरिओम पांडेय का कच्चा मकान शनिवार की रात गिर गया। वार्ड नंबर दस व 11 में बाबूराम, धर्मा, उमाशंकर, लालमन यादव व दयाराम का कच्चा मकान गिर गया। इसी तरह नगर के बहेलियाना मोहल्ले में अवधेश, मखदूमपुर मोहल्ले के प्रेमा देवी व रीता हरिराम आदि का मकान गिर गया।
शाहगढ गांव निवासी बलधारी चौहान, विहरोजपुर गांव के राजेश कुमार, उदयभान राम, सुशीला देवी, विजय कुमार, बंसू राम, बलिकरन राम, जगदेव राम, राजनाथ राम, तिलकधारी राम, राजकरन राम, सुनील कुमार, अच्छेलाल राम, राजेश कुमार, सीमा देवी, मुल्की देवी, शिवकुमार, कमली देवी, राजकुमार, शंकर राम, राजू राम, सरवन कुमार, कन्हैया का कच्चा मकान गिर गया। कस्बा सराय गांव के निवासी पंचम, सर्वे कुमार, धर्मेंद्र कुमार, सलाहू, इसराइल, मोबीन, अमीन, निजामुद्दीन, लालमन, मो.नसीम, साजेब, शिव मौर्या व शिला गोंड़ के मकान गिर गए। इसकी क्रम में रघुनाथपुर (खुझिया) गांव निवासी संतलाल, सुरेंद्र, लालधर, अवधनारायण, रामलाल, विध्याचल, हरिदेव, धर्मेंद्र कुमार, कालेश्वर व भीमली गुप्ता सहित अन्य लोगों मकान गिर गया। वहीं काशीपुर गांव निवासी श्याम राज्य चौहान, फूल चंद, कन्हैया, नौमी चौहान, दिनेश मौर्य, दशरथ, लालसा का घर गिर गया। रानीपुर गांव के राधे, रामबली गोड़, दुर्ग विजय, लौटू, प्रेमचंद, सत्यपाल, श्रीराम यादव व गोविद का आशियाना उजड़ गया ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।