शारदीय नवरात्रि का पहला दिन, मां शैलपुत्री की पूजा से हुई शुरूआत
September 29th, 2019 | Post by :- | 257 Views

कालका (हरपाल सिंह) :
पिंजौर ब्लॉक की ग्राम पंचायत (गणेशपुर भौरियां) गांव पत्तन के प्राचीन काली माता मंदिर में शारदीय नवरात्र की शुरुआत हो रही हैं, जोकि 7 अक्तूबर तक चलेंगे। जानकारी देते हुए पंडि़त विकास शर्मा, गुरबचन शर्मा, सुमित सैनी, बलविन्द्र शर्मा आदि ने बताया कि इस दिन व्रत रखने वाले लोग घर पर घट स्थापना करते है। इसके साथ ही मां दुर्गा के पहले रूप शैलपुत्री की पूजा की जाती है। मार्केण्डय पुराण के अनुसार, पर्वतराज यानि शैलराज हिमालय की पुत्री होने के कारण इनका नाम शैलपुत्री पड़ा। इसके साथ ही मां शैलपुत्री का वाहन बैल होने के कारण इन्हें वृषारूढ़ा भी कहा जाता है। मां शैलपुत्री के रूप के बारे में बताएं तो इनके दो हाथों में से दाहिने हाथ में त्रिशूल और बाएं हाथ में कमल का फूल सुशोभित है। उन्होंने बताया कि नवरात्रों में प्रतिदिन दोपहर 12 बजे से भण्डारा किया जाएगा। उन्होंने सभी से आग्रह किया कि अधिक से अधिक संख्या में पहुंचकर माता के दर्शन करें व प्रसाद ग्रहण करें। उन्होंने बताया कि यदि कोई भी श्रद्धालु मंदिर निर्माण कार्य में सहयोग करना चाहता है तो वह मंदिर कमेटी से संपर्क कर सकता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।